scriptहिरासत में मौतः डीएसपी सहित तीन पर आरोप साबित, सात को क्लीन चिट | Seven got clean chit | Patrika News
जयपुर

हिरासत में मौतः डीएसपी सहित तीन पर आरोप साबित, सात को क्लीन चिट

नीम का थाना पुलिस का है मामला। सीबीआई ने माना…हिरासत में मारपीट से हुई थी बलकेश की मौत। डीएसपी सहित तीन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सीबीआई करेगी चालान
नीम का थाने का मामला: हाईकोर्ट के आदेश पर सात साल पहले सीबीआई ट्रांसफर हुआ था केस

जयपुरJul 03, 2024 / 12:29 pm

Om Prakash Sharma

ओमप्रकाश शर्मा

जयपुर. नीम का थाना के पुलिस हिरासत में मौत के आठ साल पुराने मामले में सीबीआई ने तफ्तीश पूरी कर ली है। सीबीआई ने माना है कि बलकेश मीणा की मौत पुलिस हिरासत में हुई मारपीट के कारण हुई थी। मेडिकल रिपोर्ट और अन्य साक्क्ष्यों के आधार पर सीबीआई इस नतीजे पर पहुंची है। इस आधार पर सीबीआई ने एक डीएसपी और दो थानाधिकारी को आरोपी माना है। तीरों पुलिस अधिकारियों के खिलाफ चालान पेश करने के लिए सीबीआई ने राज्य सरकार से इजाजत मांगी है। गृह विभाग ने इसकी मंजूरी दे दी है।
सीबीआई तत्कालीन रींगस वृत्ताधिकारी तेजपाल सिंह, नीम का थाना के तत्कालीन प्रभारी नवल किशोर तथा तत्कालीन रींगस थानाधिकारी लालसिंह के खिलाफ अदालत में चालान पेश करेगी। तेजपालसिंह सेवानिवृत्त हो चुके हैं तथा नवल किशोर अभी एसीबी में पदस्थापित हैं। यह मामला अप्रेल 2016 का है। नीम का थाना पुलिस ने चोरी के मामले में नयाबास गांव निवासी बलकेश मीणा को हिरासत में लिया था। इस दौरान उसकी तबीयत बिगड़ गई। उसे जयुपर सवाई मानसिंह अस्पताल में रैफर किया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। परिजन को आरोप था कि पुलिस ने उसे सात अप्रेल को ही हिरासत में लिया था। इसके बाद दस अप्रेल को उसे हिरासत में बताया।
हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई को दी थी जांच, दस में से तीन को क्लीन चिट

हिरासत में मौत का मामला नीम का थाना कोतवाली में 20 अप्रेल 2016 को दर्ज हुआ था। एसएचओ नवल किशोर मीणा, रींगस डीएसपी तेजपाल सिंह, श्रीमाधोपुर एसएचओ सुगनचंद सहित 10 पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया। 159-2016 नम्बर की एफआईआर जांच के लिए सीआईडी भेजी गई थी। इसके बाद बलकेश के परिजन की ओर से हाईकोर्ट में रिट दायर की गई। हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई ने 1 सितम्बर 2017 को एफआईआर दर्ज की। इसकी जांच दिल्ली टीम को दी गई थी।
एम्स की चिकित्सकीय टीम की राय

सीबीआई ने जांच के दौरान मेडिकल रिपोर्ट पर एम्स दिल्ली की चिकित्सकीय टीम से भी राय ली। इसके आधार पर माना कि बलकेश की मौत मारपीट के कारण हुई थी। इसी आधार पर सीबीआई ने तीन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ आरोप प्रमाणित माने।

Hindi News/ Jaipur / हिरासत में मौतः डीएसपी सहित तीन पर आरोप साबित, सात को क्लीन चिट

ट्रेंडिंग वीडियो