वार्ड 53 और 54 में सीवरेज, सड़क और पानी बना मुद्दा


गंदगी और असामाजिक तत्वों से परेशान लोग

By: Rakhi Hajela

Published: 16 Oct 2020, 11:03 PM IST

नगर निगम चुनाव को लेकर अब वोटर जागरुक हो रहे हैं। स्थानीय नागरिक अब उन प्रत्याशियों को वोट देकर जिताना चाहते हैं जो उनकी समस्याओं का समाधान कर सके। वोटर्स का कहना है कि वह उन्हीं प्रत्याशियों को अपना मत देंगे जो उनकी समस्याओं को सुनकर समाधान भी कर सकेगा क्योंकि हर बार चुनाव के समय यहीं होता है जनप्रतिनिधि आते हैं आश्वासन देकर गायब हो जाते हैं समस्याओं का समाधान कोई नहीं करता। कुछ ऐसा ही कहना है वार्ड 53 और 54 हैरिटेज के वोटर्स का। इन दोनों वार्डों के निवासी लंबे समय से कच्ची सड़क, पानी, सीवरेज और गंदगी से परेशान हैं।
कच्ची सड़क, सीवरेज बना परेशानी
वार्ड 54 की बात करें तो यहां के निवासी लंबे समय से कच्ची सड़क, सीवरेज के साथ ही असामाजिक तत्वों की समस्या से जूझ रहे हैं। बार बार शिकायत करने के बाद भी आज तक समाधान नहीं हुआ। स्थानीय निवासियों के मुताबिक पूरे वार्ड में कुछेक स्थानों को छोड़ कर कहीं भी पक्की सड़क नहीं है। उबड़ खाबड़ सड़क पर चलना भी दूभर है, जगह जगह से सड़क खुदी पड़ी है तो सीवरेज इस क्षेत्र की दूसरी सबसे बड़ी समस्या है। इस बार तो बारिश के दौरान घरों में इतना पानी भर गया कि घर का सामान पानी में तैर रहा था, नगर निगम हो या फिर स्थानीय पार्षद और जनप्रतिनिधि किसी ने सुनवाई नहीं की।

असामाजिक तत्वों से परेशान वोटर्स
वार्ड 54 में कच्ची सड़क और सीवरेज के साथ दूसरी बड़ी समस्या असामाजिक तत्वों की है। गुर्जर की थड़ी से प्रेमनगर की ओर द्रव्यवती नदी के किनारे अशोक विहार क्षेत्र के निवासी असामाजिक तत्वों से परेशान हैं। उनका कहना है कि इस क्षेत्र में बना हुआ खाली मैदान ऐस जगह है जहां असामाजिक तत्वों का बोलबाला रहता है। शाम होने के बाद यहां से गुजरना मुश्किल हो जाता है। खासतौर पर महिलाओं के लिए यह बिल्कुल सुरक्षित नहीं है। रात के समय यह क्षेत्र असामाजिक तत्वों का अड्डा बन जाता है।

पानी और सड़क हैं मुख्य मुद्दा
वार्ड 53 के नागरिकों के लिए भी अन्य वार्डों की तरह पानी और पक्की सड़क मुख्य मुद्दे हैं। यहां के लोगों का कहना है
कि पानी को लेकर आए दिन काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। पानी कभी आता तो कभी नहीं आता। उस पर सड़क भी जगह जगह से टूटी पड़ी रहती है। स्थानीय जनप्रतिनिधियों को उन्होंने कभी देखा ही नहीं सभी को चुनाव के समय याद आती है फिर गायब हो जाते हैं।


इनका कहना है,
पूरा वार्ड असामाजिक तत्वों से परेशान है। इसके साथ ही सीवरेज भी बड़ी समस्या है। बोरिंग का पानी खराब है। बीसलपुर से पानी आज तक नहीं मिला। नाम की पट्टिका लग चुकी है लेकिन काम आज तक चालू नहीं हुआ। पता नहीं काम कब चालू होगा।
अनिल शर्मा,वार्ड 54,हैरिटेज

20 साल तो मुझे यहां देखते हुए हो गए आज तक पक्की सड़क नहीं बनी है। सीवरेज की समस्या तो न जाने कब से बनी हुई है। बारिश होते ही पानी घरों में घुस जाता है लेकिन कोई देखने सुनने वाला नहीं है।
सुनील गोयल, वार्ड 54 हैरिटेज

पक्की सड़क का ना होना हमारे लिए सबसे बड़ी समस्या है। कोई जनप्रतिनिधि कभी आकर नहीं देखता कि लोगों की समस्याएं क्या हैं। बस चुनाव के समय वोट मांगने आ जाते हैं।
तारा शर्मा, वार्ड 53 हैेरिटेज

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned