विकास दुबे को दबोचने के लिए राजस्थान तक घेराबंदी

कानपुर ( Kanpur ) के बिकरु गांव में आठ पुलिसवालों ( 8 Policeman ) की हत्या ( Murder ) का आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे ( Vikas Dube ) चार दिन बाद भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। यूपी, राजस्थान ( Rajasthan ) , मध्यप्रदेश, हरियाणा और बिहार में उसकी घेराबंदी ( Siege ) जारी है। ( Jaipur News )

By: sanjay kaushik

Published: 07 Jul 2020, 01:09 AM IST

-कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मामला

-चार दिन बाद भी पुलिस के गुनहगार का सुराग नहीं

जयपुर/कानपुर/लखनऊ। कानपुर ( Kanpur ) के बिकरु गांव में आठ पुलिसवालों ( 8 Policeman ) की हत्या ( Murder ) का आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे ( Vikas Dube ) चार दिन बाद भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। यूपी, राजस्थान ( Rajasthan ) , मध्यप्रदेश, हरियाणा और बिहार में उसकी घेराबंदी ( Siege ) जारी है। ( Jaipur News ) यूपी में पुलिस की 60 टीमें उसे ढूंढने में लगाई गई हैं। दरअसल पहले दिन तो खबर ये आई थी कि विकास दुबे नेपाल के रास्ते भाग गया है। इसके बाद ये संभावनाएं भी जताई गईं कि वह घटना को अंजाम देकर राजस्थान की तरफ निकल सकता है।


-पत्नी के मोबाइल से सीसीटीवी कनेक्ट

इधर, पुलिस की जांच में उसके परिवार के सदस्यों के चेहरे भी बेनकाब होने लगे हैं। पुलिस की रडार पर आई विकास की पत्नी ऋ चा के बारे में चौंकाने वाली खबर सामने आई है। जांच में सामने आया है कि ऋ चा के मोबाइल से गांव का सीसीटीवी कनेक्ट रहता था। जब भी पुलिस विकास को पकड़ती थी, वह क्लिप को सोशल मीडिया पर वायरल कर देती, ताकि पुलिस उसका एनकाउंटर न कर सके। यही नहीं, वह मोबाइल पर वहां की एक्टिविटी भी देखा करती थी। पुलिस ने ऋ चा का मोबाइल जब्त कर लिया है।

-दुबे की मदद के आरोप में यूपी के तीन पुलिसकर्मी सस्पेंड

कानपुर में आठ पुलिसवालों की हत्या का आरोपी विकास दुबे वारदात के चार दिन बाद भी फ रार है और अब तक उसका कोई सुराग नहीं मिला है। पूरे घटनाक्रम में कई पुलिसवाले भी शुरू से ही संदेह के घेरे में हैं। इन पुलिस वालों पर विकास दुबे के लिए जासूसी करने का आरोप है। ड्यूटी पर लापरवाही के आरोप में अब चौबेपुर थाने में तैनात दो सब इंस्पेक्टर, एक सिपाही को निलंबित कर दिया गया है। चौबेपुर के थाना इंचार्ज विनय तिवारी को पहले ही निलंबित किया जा चुका है।

-मुठभेड़ से पहले पुलिस का आया फोन

मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार विकास के साथियों ने भी इस बात की तस्दीक की है कि मुठभेड़ से ठीक पहले विकास के पास पुलिस का फ ोन आया था, जिसमें उसे छापे की जानकारी दी गई थी। कई पुलिसवालों से इस सिलसिले में पूछताछ हो रही है और उनके कॉल रिकॉर्ड खंगाले जा रहे हैं। निलंबित होने वालों में उप निरीक्षक कुंवरपाल, तथा कृष्णकु मार शर्मा और सिपाही राजीव हैं। ये सभी चौबेपुर थाने में तैनात थे। बताया जाता है कि तीनों पुलिसकर्मी चौबेपुर के थाना प्रभारी विनय तिवारी के साथ विकास दुबे के घर बुधवार को गए थे.

-ढाई लाख का इनाम

कानपुर में आठ पुलिसकर्मयों की हत्या के आरोपी विकास दुबे की सूचना देने वाले को अब ढाई लाख का इनाम दिया जाएगा। पहले यह राशि एक लाख रुपए घोषित की गई थी। इससे पहले, विकास दुबे पर इनाम की राशि को 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख रुपए किया गया था। दुबे के अलावा, अन्य 18 नामजद अभियुक्तों पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है।

sanjay kaushik Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned