बाजार और गलियों में पसरा सन्नाटा

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए जनता कर्फ्यू को पूरा समर्थन मिला।

By: Lalit Tiwari

Published: 22 Mar 2020, 04:39 PM IST

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए जनता कर्फ्यू को पूरा समर्थन मिला। कानून व्यवस्था संभाल रही पुलिस को किसी तरह की परेशानी नहीं आई। हालांकि कुछ जगह बाइक से आ रहे युवाओं को पुलिस ने घर जाने की सलाह दी तो वह मान गए। प्रधानमंत्री मोदी की अपील का असर पूरे शहर में देखने को मिला। शहर में जहां सन्नाटा पसरा रहा। वहीं कॉलोनियों के बाहर भी लोगों की आवाजाही देखने को नहीं मिली। इक्का दुक्का लोग जरूर नजर आए। लेकिन देखते ही देखते वह भी अपने घरों में कैद हो गए। महेश नगर में पूरा बाजार बंद रहा, यही हाल टोंक फाटक का भी रहा। यहां भी लोगों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। सरस डेयरी भी शाम चार बजे बाद खुली। दूध के लिए सरस डेयरी के बूथ और मेडिकल की दुकान पर इक्का दुक्का लोग दिखे। हालांकि कई दुकानें मेडिकल भी बंद दिखी। टोंकफाटक में गश्त कर रहे पुलिसकर्मी का कहना था कि इतना सन्नाटा तो उसने कर्फ्यू के दौरान भी नहीं देखा। महेश नगर में लोगों ने घरों में टीवी सीरियल देखकर काम चलाया तो युवा लोग मोबाइल फोन पर कोरोना की अपडेट लेते हुए दिखाई दिए। फिर वह घड़ी भी आ गई जिसका सभी को इंतजार था। शाम पांच बजे बालकनी में लोग खड़े होकर ताली और शंख घंटा घड़ियाल बजाते हुए नजर आए। तालियों की गड़गड़ाहट के बीच इन लोगों का कहना था कि किसी तरह कोरोना को हराना है।

Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned