सॉफ्ट स्किल मैनेज करने में टीम की ऐसे करें मदद

जब आप एक लीडर बन जाते हैं तो आपकी सफलता पूरी टीम की सफलता पर निर्भर करती है

समय की प्राथमिकता
टीम को वर्क-ऑफ के लिए भी मोटिवेट करें। इससे एम्प्लॉइज में पॉजिटिविटी बढ़ती है। एक लीडर के रूप में आप टीम से यह कह सकते हैं कि वर्क टाइम के बाद या फिर वीकेंड पर वे वर्क संबंधी इमेल या फोन कॉल्स का जवाब देने के लिए बाध्य नहीं हैं, बल्कि अपनी पर्सनल लाइफ पर फोकस करें। इससे प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ को मैनेज करना भी आसान होगा।

मल्टीटास्किंग का भ्रम करें दूर
जब एम्प्लॉइज का फोकस टास्क पर से हट जाएगा तो वे वर्क बर्नआउट का शिकार हो सकते हैं। इसलिए टीम मैम्बर्स का वर्क के प्रति फोकस बढ़ाना जरूरी है। हालांकि एक समय में कई सारे काम करने से वर्क स्ट्रेस बढ़ता है लेकिन एक ही नेचर के कामों को एक साथ किया जाए तो इससे प्रोडक्टिविटी बढ़ती है। इसलिए टीम को मल्टीटास्किंंग के सही तरीके के बारे में बताएं। इससे पॉजिटिविटी भी बढ़ती है और एम्प्लॉई वर्क स्ट्रेस से बचेंगे। इस स्किल को डवलप करने से प्रोडक्टिविटी इंप्रूव होगी।

सपोर्टिव हो एनवायरनमेंट
टीम की परफॉर्मेंस एवं प्रोडक्टिविटी को बढ़ाने के लिए यह जरूरी है कि वर्कप्लेस का एनवायरनमेंट सपोर्टिव हो। टीम के साथ इमोशनल एंगेजमेंट बनाने के लिए सभी से पर्सनली मिलना होगा। इसका एक फायदा यह भी होगा कि टीम के सदस्य अपने कार्यों के प्रति गंभीर होंगे और आपको उनकी स्किल्स का भी पता चलेगा। इस तरह हर सदस्य की सॉफ्ट स्किल को मोटिवेट करके आप बड़े लक्ष्यों की ओर तेजी से बढ़ सकते हैं।

आपसी संवाद को बढ़ाएं
एम्प्लॉइज की इस सॉफ्ट स्किल को डवलप करने के लिए समय-समय पर मीटिंग कर सकते हैं। कुछ मीटिंग आप पर्सनली भी कर सकते हैं। इस दौरान आप हर सदस्य से नए आइडिया और उनकी काबिलियत के बारे में बात कर सकते हैं। यदि कोई व्यक्ति अपनी पर्सनल समस्याओं से परेशान है तो उसके बारे में बात की जा सकती है। आपका यह मोरल सपोर्ट निगेटिविटी को दूर कर लक्ष्यों के प्रति फोकस बढ़ाने में मदद करेगा।

हेल्दी कल्चर
वर्कप्लेस के कल्चर पर फोकस करके भी आप टीम मैम्बर्स की सॉफ्ट स्किल को बढ़ा सकते हैं। इससे टीम भावना भी बढ़ती है। दरअसल, जब वर्कप्लेस का कल्चर हेल्दी होगा तो सभी लोग लक्ष्यों को अर्जित करने में मिलकर प्रयास करेंगे। साथ ही मैम्बर्स को टारगेट अचीव करने पर पुरस्कृत भी करें। इससे भी टीम में मोटिवेशन बढ़ता है। साथ ही वर्कप्लेस पर सभी कल्चर के लोगों का सम्मान करें। इससे अन्य लोगों में एक-दूसरे के प्रति सम्मान की भावना बढ़ती है। देखा जाए तो लक्ष्यों को समय पर तब ही पूरा किया जा सकता है, जब वर्क कल्चर हेल्दी हो।

Archana Kumawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned