'सीटीएम' से करें त्वचा की देखभाल

जिन लोगों की त्वचा नाॅर्मल होती है उन्हें किसी भी प्रकार के पदार्थ से एलर्जी कम ही देखने में आती है जबकि ऑयली स्किन एक्ने-प्रोन स्किन होती है, जिसमें थोड़ी भी गंदगी मुंहासों की समस्या दे देती है।

By: Kiran Kaur

Updated: 18 Apr 2020, 10:18 PM IST

लाॅकडाउन के इस समय अगर आप अपनी त्वचा की देखभाल करें तो यह स्किन के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। इस समय आप घर में हैं और बाहर की धूल, मिट्टी आदि से बचे हुए हैं। ऐेसे में यह समय आपकी स्किन में बदलाव का समय हो सकता है। इसके लिए आपको सबसे पहले यह देखना होगा कि स्किन का टाइप क्या है, जैसे अगर आपकी स्किन रूखी है तो उसकी केयर अलग तरह से होगी और अगर ऑयली है तो इसे पैम्पर करने के लिए आपको अलग तरह से ध्यान देना होगा। जिन लोगों की त्वचा नाॅर्मल होती है उन्हें किसी भी प्रकार के पदार्थ से एलर्जी कम ही देखने में आती है जबकि ऑयली स्किन एक्ने-प्रोन स्किन होती है, जिसमें थोड़ी भी गंदगी मुंहासों की समस्या दे देती है। इसी तरह से रूखी त्वचा धोने के बाद काफी खिंची-खिंची नजर आती है और यह पैची भी दिखती है। ध्यान देने वाली बात यह है कि आपकी त्वचा का कोई भी प्रकार हो आपको क्लींजिंग, टोनिंग और मॉइश्चरइजिंग का खास खयाल रखना होगा। इस रूटीन को सीटीएम के नाम से जाना जाता है।
1. क्लींजिंगः इसमें इस बात पर ध्यान दें कि आपका क्लींजर सल्फेट फ्री हो वरना आपकी स्किन में रूखापन बढ़ जाएगा। साथ ही यह त्वचा पर आने वाले एक्सेस ऑयल को भी कम करने का काम करता है।

2. टोनिंग : ऐसे टोनर से बचें जिनमें अल्कोहल होता है। ये उत्पाद न केवल आपकी त्वचा के लिए बेहद कठोर हैं, बल्कि वे इसे डिहाइड्रेट भी करने का काम करते हैं। इसके बजाय, प्राकृतिक अवयवों से तैयार टोनर का उपयोग करें।

3. मॉइश्चरइजिंग : एसपीएफ युक्त मॉइश्चराइजर का उपयोग करने से आपकी त्वचा को धूप से बचाने में मदद मिलेगी। ऐसा मॉइश्चराइजर लें जिसका एसपीएफ मूल्य 30 या उससे अधिक हो। इसके अलावा, ऐसे उत्पादों को चुनें जो गैर-कॉमेडोजेनिक हैं और विशेष रूप से चेहरे के लिए तैयार किए गए हों।

Kiran Kaur Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned