ट्रोले से टकराई यात्रियों से भरी स्लीपर, 2 सवारी व ट्रोला चालक जिंदा जले

श्रीगंगानगर जिले के अनूपगढ़ से मोहनगढ़ जैसलमेर जा रही एक स्लीपर कोच बस रविवार रात को गांव 5 के समीप ट्रोला से टकरा गई। हादसे में ट्रोला व बस पल्टियां खा गए। बस में आग लग गई। आग की सूचना पर कई दमकलें, पुलिस, प्रशासन पहुंच गया। दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। 2 सवारी व ट्रोला चालक आग में जिंदा जल गए।

By: Gaurav Mayank

Published: 20 Sep 2021, 01:29 AM IST

जयपुर। यात्रियों को लेकर श्रीगंगानगर जिले के अनूपगढ़ से मोहनगढ़ जैसलमेर जा रही एक स्लीपर कोच बस रविवार रात को गांव 5 के समीप ट्रोला से टकरा गई। हादसे में ट्रोला व बस पल्टियां खा गए। बस में आग लग गई। आग की सूचना पर कई दमकलें, पुलिस, प्रशासन पहुंच गया। दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। 2 सवारी व ट्रोला चालक आग में जिंदा जल गए। वहीं बस में करीब एक दर्जन सवारियों को चोटें आई हैं। स्लीपर कोच बस अनूपगढ़ से सवारियां लेकर मोहनगढ़ जैसलमेर जा रही थी। आग बुझने के बाद देखा तो चालक ट्रोला में फंसा था, जहां उसकी जिंदा जलने से मौत हो गई। बस में 2 सवारियां रह गई थी, जो आग के दौरान जिंदा जल गई।

तेज धमाके से बस पलट गई
बस में सवार एक यात्री ने बताया कि बस तेज गति से जा रही थी। वहीं सामने से आते एक ट्रोला से टकरा गई। इस दौरान एक तेज धमाका हुआ और बस पल्टियां खाती चली गई। इसके बाद यात्रियों में चीख पुकार मची थी और यात्री बस से निकलने का प्रयास कर रहे थे। वहां ग्रामीणों ने भी उनकी मदद की। इसके बाद बस में तेजी से आग लग गई।

बुरी तरह जल चुके शव, नहीं हो सकी पहचान

बस के अंदर आग लगने के दौरान फंस गई 2 सवारियां व ट्रोला में फंसे चालक जिंदा जल गए। शव इतनी बुरी तरह जल चुके हैं, जिनकी पहचान करना मुश्किल हो गया है। इन शवों को बस व ट्रोला से बाहर निकालने के प्रयास चल रहे हैं। बस से दो यात्रियों के शवों को बाहर निकलवाकर अस्पताल की मोर्चरी में पहुंचा दिया गया है। वहीं ट्रोला चालक का शव अभी ट्रोला में ही फंसा हुआ है।

Gaurav Mayank
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned