...ये कैसी मजबूरी ट्रैफिक से जूझता शहर, फिर भी फाइलों में दबा स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट

SAVITA VYAS | Publish: Jul, 27 2018 01:17:21 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर विकास प्राधिकरण की तंगहाली जयपुर में ऑस्ट्रेलियाई शहर एडिलेड की तर्ज पर स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट प्लान लागू करने में आड़े आ रही है।

जयपुर। जयपुर विकास प्राधिकरण की तंगहाली जयपुर में ऑस्ट्रेलियाई शहर एडिलेड की तर्ज पर स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट प्लान लागू करने में आड़े आ रही है।हालात यह है कि जयपुर शहर ट्रैफिक को एडिलेड सिटी की तर्ज पर मैनेज करने के लिए तैयार स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट प्लान की फाइल जेडीए की वित्त शाखा में
महीनों से धूल फांक रही है।
जानकारी के अनुसार एडिलेड सिटी काउंसिल और जेडीए के बीच एमओयू हुआ था। इसके तहत जयपुर की सड़कों पर स्मार्ट ट्रैफिक सेंसर लगाने हैं। इस पायलट प्रोजेक्ट के तहत रामबाग चौराहे से टोंक रोड फाटक होते हुए गोपालपुरा तक ट्रैफिक सेंसर स्थापित करने हैं। जेडीए और एडिलेड सिटी की टीम को मिलकर एक महीने में ट्रैफिक सेंसर लगाने के लिए स्टडी करके यहां ट्रैफिक सेंसर लगाने थे, लेकिन एमओयू के 10 महीने बाद भी प्रोजेक्ट सिरे नहीं चढ़ पाया है। पैसों की कमी का हवाला देकर जेडीए की वित्त शाखा ने अभी तक स्मार्ट ट्रैफिक सेंसर प्रोजेक्ट को स्वीकृति नहीं दी है। गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलियाई प्रतिनिधि मंडल ने सितम्बर 2017 में जेडीए प्रशासन के साथ स्मार्ट ट्रैफिक सेंसर का खाका खींचा था, जो अब जेडीए की
फाइलों में दबा पड़ा है।

जेडीए जैसा ही निगम का हाल

जेडीए के साथ ही नगर निगम ने भी ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड सिटी की स्वच्छता, सफाई व्यवस्था और विकास का मॉडल अपनाने के लिए एमओयू किया था। एडिलेड के इकोनॉमिक डवलपमेंट एंड टूरिज्म डिपार्टमेंट के असिस्टेंट डायरेक्टर मैट ग्रांट और एडिलेड सिटी काउंसिल की काउंसलर नताशा मालानी ने सितम्बर 2017 में नगर निगम प्रशासन के साथ समझौता किया था। इसमें एडिलेड के ग्रीन एनर्जी, पब्लिक ट्रांसपोर्ट और ट्रैफिक मैनेजमेंट के तौर तरीकों को जयपुर में अपनाने पर सहमति बनी थी, लेकिन नगर निगम भी तंगहाली के कारण एडिलेड मॉडल को लागू नहीं कर पाया है।

इनका कहना है:
जयपुर शहर में यातायात के बेहतर प्रबंधन के लिए एडिलेड की तर्ज पर स्मार्ट ट्रैफिक सेंसर लगाने हैं। इस प्रोजेक्ट को अब तक वित्तीय स्वीकृति नहीं मिली है। फाइल को वित्तीय स्वीकृति के लिए भिजवा रखा है।
देवेश गुप्ता, अभियंता, जेडीए

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned