एसएमएस अस्पताल: गंदगी हटे तो संक्रमण से बचे

-

By: Avinash Bakolia

Published: 19 Mar 2020, 05:31 PM IST

जयपुर. ये हैं प्रदेश का सबसे बड़ा सवाई मानसिंह अस्पताल। जहां हाल ही में कोरोना मरीजों को ठीक किया गया। यहां के डॉक्टर्स को पूरे भारत के डॉक्टर्स फॉलो कर रहे है, लेकिन अस्पताल के हालात कुछ और ही बयां कर रहे हैं। अस्पताल में जगह-जगह पड़ी गंदगी संक्रमण के साथ-साथ असंख्य बीमारियों को न्यौता दे रही है। ऐसा नहीं है इसकी खबर अस्पताल प्रशासन को नही है, लेकिन अधीक्षक से लेकर तमाम डॉक्टर, मेडिकल स्टॉफ की टीम सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों के इलाज पर ही फोकस कर रहे हैं। जबकि अस्पताल में पड़ी गंदगी किसी को दिख नहीं रही है। बांगड़ के पास परिजनों को पीने के पानी की व्यवस्था है, लेकिन साफ सफाई नहीं होने से संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। न्यूरो सर्जरी वार्ड की गंदगी बांगड़ में ही एकत्रित हो रही है। जगह-जगह से सीवरेज का पानी निकल रहा है। सबसे ज्यादा खतरा ट्रॉली और स्ट्रेचर पर आने वाले मरीजों को है। इनको अच्छे से हाइपो क्लोराइड से साफ नही किया जा रहा है। हालांकि अस्पताल प्रशासन की ओर से वार्डों में सेनेटाइजर स्प्रे करवाया जा रहा है, लेकिन बिल्डिंग के बाहर सफाई की माकूल व्यवस्था नहीं की गई है। धन्वंतरि भवन के पास पुरानी बिल्डिंग में प्रवेश करने वाले रास्ते में कई महीनों से निर्माण कार्य का मलबा पड़ा है। वहीं पर ही वार्डों में भर्ती मरीजों के परिजनों ने विश्राम स्थली बना ली है, ऐसे में संक्रमण का खतरा हो बढ़ गया है।

Avinash Bakolia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned