एसएमएस अस्पताल: मरीजों को कंधों पर उठा दौड़े परिजन जानिए पूरा मामला

एसएमएस अस्पताल: मरीजों को कंधों पर उठा दौड़े परिजन जानिए पूरा मामला

Priyanka Yadav | Publish: Jun, 14 2018 11:33:05 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

अस्पताल के ओटी परिसर के पास आइसीयू में धुआं भर गया।

जयपुर. एसएमएस अस्पताल के बांगड़ परिसर की दूसरी मंजिल पर कार्डियो थोरोसिक विभाग के सिटी ओटी में बुधवार सुबह 5:30 बजे शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। बाहर स्टोर रूम में लगी आग ओटी तक जा पहुंची। ओटी से आइसीयू तक अफरा-तफरी मच गई। घबराए मरीज-परिजन वहां से भागे। कई गंभीर मरीजों को परिजन कंधों पर लेकर दौड़े। आग से स्टोर रूम में रखा ओटी से संबंधित सामान व ओटी में उपकरण जल गए। ओटी में ऑक्सीजन सिलेंडर रखे हुए थे। बांगड़ परिसर व अस्पताल प्रशासन में भी हड़कंप मच गया। कर्मचारियों ने ओटी के कांच तोड़ ऑक्सीजन सिलेंडर निकाले। चार दमकलों ने डेढ़ घंटे में आग पर काबू पाया।

 

आइसीयू-वार्ड में भरा धुआं, आनन-फानन में मरीजों को किया शिफ्ट

अस्पताल के ओटी परिसर के पास आइसीयू में धुआं भर गया। आइसीयू में भर्ती मरीजों को आनन-फानन दूसरी मंजिल स्थित पांच नंबर वार्ड में शिफ्ट किया गया। हाल ही उसी वार्ड में ऑक्सीजन की लाइन लगवाई गई थी। उसी लाइन से ऑक्सीजन प्वाइंट शुरू कर मरीजों को लगाई गई। वार्ड 4 में धुआं पहुंचने से मरीज बाहर भागे। उन्हें डे केयर में शिफ्ट किया गया। हालांकि शाम तक आइसीयू और वार्ड वापस शुरू कर दिया गया।

 

शिफ्ट होगा ओटी

कार्डियो थोरोसिक विभाग के पास फिलहाल 2 ओटी हैं, जहां 8 ऑपरेशन होते हैं। एक ओटी में आग लगने से अब 4 ही हो रहे हैं। एक ओटी पूरी तरह बंद कर दिया गया है। ऑपरेशन के लिए सप्ताह में 25-30 मरीजों को वेटिंग दी जाती है। ऐसे में वेटिंग की संख्या बढ़ेगी। अस्पताल प्रशसन के अनुसार मुख्य भवन के इमरजेंसी थिएटर में ओटी शुरू किया जा रहा है। हालात को देखते हुए इस सप्ताह तक ओटी शुरू नहीं किया जा सकता।

 

डीएस मीणा, अधीक्षक, एसएमएस अस्पताल ने कहा कि आग शॉर्ट सर्किट से लगी, जो समय रहते बुझा ली गई। फिलहाल ओटी बंद है, इसे दूसरी जगह शिफ्ट करने की तैयारी चल रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned