scriptSMS's super specialty block hit by chaos 5 hours wait for treatment | अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ा SMS का सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक...... इलाज के लिए 5 घंटे का इंतजार | Patrika News

अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ा SMS का सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक...... इलाज के लिए 5 घंटे का इंतजार

  • मरीजों की सुविधा के लिए बना सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक चढ़ा अव्यवस्थाओं की भेंट
  • इलाज के लिए मरीजों का बढ़ा इंतजार
  • 1 हजार की ओपीडी और सिर्फ 2 रजिस्ट्रेशन काउंटर
  • 6 करोड़ सालाना खर्च होने के बाद भी अव्यवस्था
  • कर्मचारियों और जगह के अभाव में अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ा

जयपुर

Updated: April 30, 2022 11:18:36 am

जयपुर
जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए बना सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक कर्मचारियों और जगह के अभाव में अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गया हैं। जिस कारण से इलाज के लिए आने वाले मरीजों का दर्द और इंतजार बढ़ गया है। ट्रोमा सेंटर के पास बना यह ब्लॉक अब मरीजों को इलाज के बाद मिलने वाले सुकून से पहले दर्द दे रहा है।
SMS Hospital
SMS Hospita
1 हजार की ओपीडी और सिर्फ 2 रजिस्ट्रेशन काउंटर
पेट संबंधित सभी बीमारियों का एक छत के नीचे इलाज मिले, इस उद्देश्य से सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक को शुरू किया गया था। सात मंजिला इस ब्लॉक में नेफ्रोलॉजी,यूरोलॉजी,गेस्ट्रो और हिप्टो पेनक्रिएटो बिलेरी सर्जरी विभाग से संबंधित बीमारियों का इलाज किया जा रहा है।
इस कारण से रोजाना करीब एक हजार मरीज यहां पर दिखाने के लिए पहुंच रहे है। इतनी संख्या में मरीजों के पहुंचने के बाद भी यहां ओपीडी रजिस्ट्रेशन के सिर्फ 2 ही काउंटर है। वहीं डॉक्टर के बैठने वाले ओपीडी चैंबर के अंदर और बाहर मरीजों की संख्या के हिसाब से जगह अपर्याप्त साबित हो रही है। जिस कारण से मरीज और डॉक्टर दोनों परेशान हैं।
ग्राउंड फ्लोर पर ओपीडी, रजिस्टेशन काउंटर, भर्ती काउंटर, बिलिंग काउंटर सहित सैम्पल कलेक्शन की व्यवस्था है। लेकिन यहां इतनी संख्या में पहुंच रहे मरीजों के लिए जगह पर्याप्त नहीं है। जिस कारण से मरीज व उनके परिजन ठीक से खड़े तक नहीं हो पा रहे है।
वहीं रजिस्ट्रेशन काउंटर पर कर्मचारियों की कमी के कारण मरीज घंटों लाइन में खड़े रहकर इंतजार करने के बाद भी डॉक्टर तक नहीं पंहुच पा रहे है। वेटिंग एरिया में मरीज व उनके परिजन जगह के अभाव में फर्श पर बैठने पर मजबूर हैं।
हमने ऐसे समझी आम मरीज की परेशानी

नए सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में हमारे संवाददाता ने स्थिति का जायजा लिया। ओपीडी में दिखाने से पहले रजिस्ट्रेशन काउंटर की भीड़ में करीब सवा घंटे लाइन में खड़े रहने के बाद मरीज का रजिट्रेशन हुआ।
इसके बाद डॉक्टर के चैम्बर में पहुंचने के लिए करीब 45 मिनट तक कतार में लगना पड़ा। डॉक्टर द्वारा सोनोग्राफी और अन्य जांच लिखने पर बिलिंग काउंटर पर लम्बी कतार में लगना पड़ा। सोनोग्राफी और एक्सरे के लिए एक काउंटर और ब्लड संबंधित अन्य जांचों के अलग अलग तीन बिलिंग काउंटर बने हुए हैं। इस लाइन में लगे मरीजों को देखा गया तो पता लगा कि संबंधित जांच के लिए बिल कटवाने के लिए 1 घंटा से अधिक और सोनोग्राफी काउंटर पर करीब 45 मिनट लाइन में लगने के बाद रजिस्ट्रेशन हुआ।
जिसके बाद सेम्पल देने के लिए 25 मिनट कतार में लगना पड़ा और सोनोग्राफी के लिए अगले दिन का समय मिला। तो डॉक्टर द्वारा दवा लिखने पर दवा काउंटर पर करीब 25 मिनट तक कतार में लगने के बाद मरीज को दवा मिली।
इस तरह ओपीडी में दिखाने आने वाले मरीज करीब 5 घंटे तक कतार में लगकर इलाज करवाने को मजबूर हैं। छह घंटे के ओपीडी समय में रोजाना एक हजार मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। इस तरह की अव्यव्स्था जब है तब मुख्यमंत्री से लेकर चिकित्सा मंत्री व प्रशासनिक अधिकारी एसएमएस में मरीजों को सुविधा देने के लिए प्रयास कर रहे है
6 करोड़ सालाना खर्च कर भी अव्यवस्था
सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में मैनपावर के लिए करीब 6 करोड़ रुपए सालाना खर्च किए जाएंगे। जिसमें कम्प्यूटर ऑपरेटर, वार्ड बॉय, स्वीपर और अन्य कर्मचारी शामिल हैं। अस्पताल में पर्याप्त कर्मचारियों की संख्या नहीं होने के कारण रजिस्ट्रेशन काउंटर, बिलिंग काउंटर और अन्य काउंटर मरीजों के हिसाब से नाकाफी हैं। हर माह 50 लाख रुपए खर्च होने के बाद भी मरीज परेशान हो रहे है।
इनका यह कहना
सरकार के फ्री इलाज की घोषणा के बाद मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। यह व्यवस्था पहले की ओपीडी के हिसाब से थी। इसलिए काउंटर कम पड़ रहे है। वहीं मरीजों की संख्या में इजाफा होने से परेशानी हो रही है। अस्पताल में मरीजों की परेशानी दूर हो इसके लिए इंतजाम करेंगे और मैनपावर व काउंटर की संख्या बढ़ाई जाएगी।
डॉ. विनय मल्होत्रा , अधीक्षक, एसएमएस अस्पताल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Bharatpur Road Accident: भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत, मचा हाहाकारLPG Price Hike Today: घरेलू गैस की कीमत 3.50 रुपए बढ़े, कमर्शियल सिलेंडर पर 8 रुपए का इजाफापोर्नोग्राफी मामले में व्यवसायी राज कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का भी मामला दर्जज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीअमरीकी शेयर बाजार धड़ाम, मंदी की आशंका के बीच दो साल की सबसे बड़ी गिरावटअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस काउंटडाउन कार्यक्रम में शामिल हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंहदुनिया की आखिरी रॉल्स रायस यूपी में, कंपनी ने लेने के लिए दिए ऑफर, 500 करोड विरासत के मालिक...
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.