scriptsmuggler eaten gold at Jaipur airport | ...जब जयपुर के एक आदमी ने खा लिया 12 लाख का सोना | Patrika News

...जब जयपुर के एक आदमी ने खा लिया 12 लाख का सोना

कभी आपने किसी को सोना खाते देखा है। नहीं देखा तो देख लिजिए जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअडडे पर शारजाह से आया यह शख्स सोना खाता है। हालांकि स्थिति तब खराब हो गई जब इसे निकलवाने के लिए हॉस्पिटल जाना पड़ा। इसके बाद चार दिन में यह सोना पेट से निकाला गया।

जयपुर

Published: April 26, 2022 09:05:51 pm

कभी आपने किसी को सोना खाते देखा है। नहीं देखा तो देख लिजिए जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअडडे पर शारजाह से आया यह शख्स सोना खाता है। हालांकि स्थिति तब खराब हो गई जब इसे निकलवाने के लिए हॉस्पिटल जाना पड़ा। इसके बाद चार दिन में यह सोना पेट से निकाला गया।
gold_ball.jpg
दरअसल,जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअडडे पर इस समय DRI की तबाड़तोड़ कार्रवाई के कारण तस्कर दहशत में हैं। इसके कारण शारजाह से तस्करी का सोना लेकर आए तीन लोगों में से शख्स ने अधिकारियों को देख सोना ही खा लिया। अधिकारियों ने तलाशी ली तो दो के पास से सोना बरामद हुआ लेकिन जब इस युवक के पास कुछ न मिला।
ऐसे में डीआरआई अधिकारियों ने मजिस्ट्रेट से एक्सरे की स्वीकृति लेने के बाद तस्कर का एक्सरे कराया गया। तस्कर के पेट में चार बॉल दिखी। इस तस्कर को हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया। जहां चार दिन के बाद आरोपी के शरीर से चार बॉल निकली। इनका वजन 58-58 ग्राम है। जो कुल 232 ग्राम की थीं।

55 लाख का सोना बरामद
अब तक इस ऑपरेशन में DRI तीनों से 1 किलो सोना बरामद किया है। इस सोने की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 55 लाख रुपए है। यह सोना तीन लोगों से बरामद किया गया है। इसमें दोनों ही तस्करों की जांच की तो प्राइवेट पार्ट (रेक्टम) से दो-दो कैप्सूल निकाले गए। इनमें 390 और 372 ग्राम सोना था। इसकी कीमत करीब 40 लाख रुपए है। तीसरा 232 ग्राम सोना खा गया था।
सिगरेट और ईरानी केसर बरामद
जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअडडे पर डीआरआई ने सिगरेट और केसर भी बरामद किया है। एक यात्री के पास से करीब डेढ़ लाख विदेशी सिगरेट मिली। इसकी कीमत 17 लाख रुपए थी। वहीं एक दूसरे यात्री से 10 किलो ईरानी केसर जब्त की गई। इसकी कीमत साढ़े 12 लाख रुपए थी।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: फडणवीस को डिप्टी सीएम बनने वाला पहला CM कहने पर शरद पवार की पूर्व सांसद ने ली चुटकी, कहा- अजित पवार तो कभी...Udaipur Killing: आरोपियों के मोबाइल व सोशल मीडिया का डाटा एटीएस के लिए महत्वपूर्ण, कई संदिग्धों पर यूपी एटीएस का पहराJDU नेता उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा, 'बिहार में NDA इज नीतीश कुमार एंड नीतीश कुमार इज NDA'?कन्हैया की हत्या को माना षड्यंत्र, अब 120 बी भी लागूकानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशानाAmravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या मामले पर नवनीत राणा ने गृह मंत्री अमित शाह को लिखी चिट्ठी, की ये बड़ी मांगmp nikay chunav 2022: दिग्विजय सिंह के गैरमौजूदगी की सियासी गलियारे में जबरदस्त चर्चाबहुचर्चित अवधेश राय हत्याकांड में बढ़ी माफिया मुख्तार की मुश्किलें, जाने क्या है वजह...
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.