यहां 21 जुलाई से शुरू होगा सावन, 7 ज्योतिर्लिंगों में विलंब से पूजा होने की यह है खास वजह

अभी कुल 12 में से केवल 5 ज्योतिर्लिंग में शिवजी की विशेष आराधना की जा रही है। ज्योतिषाचार्य पंडित नरेंद्र नागर बताते हैं कि शेष 7 ज्योतिर्लिंगों में खास पूजा—अर्चना इसलिए शुरू नहीं की गई है क्योंकि वहां अभी सावन माह की शुुरुआत ही नहीं हुई है.

By: deepak deewan

Published: 07 Jul 2020, 02:21 PM IST

जयपुर.
शिव पूजन के लिए जाना जाता सावन मास 6 जुलाई से शुरू हो चुका है। कोरोना संकट के कारण भले ही शिव मंदिरों में ताला लटका हुआ है लेकिन घरों में तो शिवभक्ति का दौर चालू हो गया है. घर—घर में शिव पूजन चल रहा है, रुद्राभिषेक का आयोजन किया रहा है.

इस सबके बीच देशभर में स्थित ज्योतिर्लिंगों में भी शिवपूजा प्रारंभ हो गई है. हालांकि अभी कुल 12 में से केवल 5 ज्योतिर्लिंग में शिवजी की विशेष आराधना की जा रही है। ज्योतिषाचार्य पंडित नरेंद्र नागर बताते हैं कि शेष 7 ज्योतिर्लिंगों में खास पूजा—अर्चना इसलिए शुरू नहीं की गई है क्योंकि वहां अभी सावन माह की शुुरुआत ही नहीं हुई है. हिंदू पंचांग की व्यवस्था के कारण हर साल ऐसी स्थिति बनती है.

सावन के सोमवार भी चार ही होंगे
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार पश्चिम में गुजरात और दक्षिण में महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु आदि राज्यों में 15 दिन की देरी से सावन की शुरुआत होती है। इन राज्यों में 21 जुलाई से सावन की शुरुआत होगी। यहां 7 ज्योतिर्लिंग आते हैं. गुजरात के सोमनाथ और नागेश्वर, आंध्रप्रदेश के मल्लिकार्जुन, तमिलनाडु के रामेश्वर ज्योतिर्लिंग, महाराष्ट्र के भीमाशंकर, त्र्यंब्यकेश्वर और घ्रुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग में सावन की शुरुआत 21 जुलाई से होगी. यहां 19 अगस्त को सावन माह समाप्त होगा। यहां सावन सोमवार भी चार ही होंगे।

ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि पश्चिम में गुजरात और दक्षिण में महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु आदि राज्यों में अमावस्या के अगले दिन से नया महीना शुरू होता है. इसे अमांत महीना कहते हैं। इसलिए इन जगहों पर सावन 15 दिनों बाद लगता है। इधर नेपाल और इसके पास के राज्यों जैसे हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में सौर कैलेंडर के अनुसार त्योहार मनाए जाते हैं।

Show More
deepak deewan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned