मुफ्त गेहूं बांट कर किया जाएगा कोरोना से उत्पन्न विशेष परिस्थितियों का मुकाबला

जयपुर. कोविड-19 से उत्पन्न विशेष परिस्थितियों के मद्देनजर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) के लाभार्थी परिवारों को जून में भी गेहूं का नि:शुल्क वितरण किया जाएगा। एनएफएसए के लाभार्थी परिवारों को अप्रैल माह के गेहूं का शत प्रतिशत नि:शुल्क वितरण कर दिया गया है। मई महीने में निर्धारित समय अवधि में गेहूं के नि:शुल्क वितरण के लिए तैयारियां कर ली गई है।

By: Subhash Raj

Published: 23 Apr 2020, 11:40 PM IST

अप्रैल एवं मई महीने में नि:शुल्क वितरण किए जाने वाले गेहूं पर होने वाले व्यय राज्य सरकार ने किया है। अब इसी तरह जून माह में भी गेहूं के नि:शुल्क वितरण पर होने वाले व्यय का वहन भी राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा।
इधर बाड़मेर में नंदी गौशाला में भी चिकित्सकों ने चारे के लिए अनुदान देने में पीछे नहीं है। बाड़मेर शहर के निराश्रित गौवंश के लिए बनी नंदीगोशाला में चारे की कमी को देखते हुए अन्य दानदाताओं के साथ डॉक्टर वर्ग खुल कर आगे आया है। यहां राजकीय चिकित्सालय में कार्यरत डॉ कमलेश चौधरी, डॉ बीएल मंसुरिया, डॉ दिनेश परमार, डॉ महिपाल गोदारा, डॉ महेंद्र चौधरी, डॉ रमेश चौधरी, डॉ रमेश चौधरी, डॉ अनिल सेठिया, डॉ सवाईसिंह राठौड़, डॉ सीमा-संजीव मित्तल, डॉ पवन धारीवाल, डॉ खेताराम सोनी, डॉ हनुमान चौधरी, डॉ दिलीप चौधरी, डॉ लोकेन्द्रसिंह, डॉ राजीव जैन,डॉ कपिल जैन, डॉ सवाई खत्री, डॉ स्नेहा-ओमप्रकाश डूडी, डॉ हरीश चौहान, डॉ सुरेश माली ने एक एक चारे की गाड़ी देने की घोषणा की है। इसी प्रकार थार हॉस्पिटल से डॉ विकास चौधरी ने दो गाड़ी चारा, विनायक हॉस्पिटल से डॉ रविन्द्र शर्मा एवम माणक हॉस्पिटल से डॉ विमल सेठिया ने एक-एक चारे की गाड़ी नंदी गौशाला में देने की घोषणा की है।

Subhash Raj
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned