SSC पेपर लीक मामला: सीबीआई में मामला दर्ज, सीजीएल पेपर लीक और हाईटेक नकल का मास्टर माइंड कौन?

आईटी कंपनी की सामग्री टीम के प्रमुख, 7 छात्रों समेत 17 लोगों के नाम आरोपियों में शामिल हैं...

By: rajesh walia

Published: 24 May 2018, 02:09 AM IST

जयपुर।

केंद्रीय जांच ब्यूरो ने स्टाफ चयन आयोग की कम्बाइंड ग्रेजुएट लेवल (सीजीएल) की टियर टू परीक्षा में हाईटेक नकल कराने का मामला दर्ज किया है। इसमें एक आईटी कंपनी की सामग्री टीम के प्रमुख, 7 छात्रों समेत 17 लोगों के नाम आरोपियों में शामिल हैं।

मामले की जांच करते हुए जयपुर , दिल्ली, नोएडा, मुंबई, चेन्नई, शिमला और पटना में कई ठिकानों पर छापे भी मारे गए हैं। उल्लेखनीय है कि 17 से 22 फरवरी को आयोजित सीजीएल ऑनलाइन परीक्षा में पेपर लीक और हाईटेक तरीके नकल कराने का आरोप लगाए गए हैं।

 

Read more : नौकर भूल गया सारी हदें, मालिक को बर्बाद करने के लिए कर डाला ऐसा काम

 

सीबीआई ने एसएससी की शिकायत पर प्रारंभिक पूछताछ की थी, इसमें प्रश्नपत्रों के लीक, परीक्षा के संचालन में आईटी कंपनी की ओर से कमी और दूसरे मुद्दे शामिल हैं। नोएडा की कंपनी से था करार एसएससी ने सीजीएल परीक्षा के लिए उत्तरप्रदेश, नोएडा की एक टेक्नोलॉजी कंपनी के साथ करार किया था।

इसमें देश के टेस्ट सेंटर चयनित कर ऑनलाइन परीक्षा के सेंटर देने थे। ऑनलाइन पेपर की किसी भी तरह से नकल न हो, इसके लिए पर्याप्त संख्या में प्रश्नों की तैयारी, बॉयोमीट्रिक दस्तखत, केंडीडेट का रजिस्ट्रेशन फोटो, एक्जाम की वीडियो रिकॉर्डिंग समेत तमाम बातें करार में शामिल थी।

23 मई परीक्षा में आरोप लगा कि कुछ परीक्षार्थियों की स्क्रीन हैक कर किसी दूसरी जगह बैठे हैकर्स ने उनके प्रश्न हल किए। जांच में सामने आया कि ये प्रश्न एक विशेष सॉफ्टवेयर की सहायता से हैकर्स के पास पहुंचे थे, जिन्हें परीक्षार्थियों के कम्प्यूटर सिस्टम में नहीं होना चाहिए था।

परीक्षा से 30 मिनट पहले आंसर-की इसके अलावा सीजीएल -2017 के कुछ प्रश्नों के स्क्रीन शॉट्स सोशल मीडिया पर लीक होकर वायरल हो रहे थे। यहां तक की 21 फरवरी को परीक्षा की उत्तरकुंजी सुबह 10 बजे के लगभग ही एसएससीटीयूबीई के फेसबुक पेज पर आ गई थी, जबकि इसकी परीक्षा 10.30 बजे शुरू होनी थी।

Show More
rajesh walia Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned