scriptदो दशक पहले शुरुआत…नए सिरे से हो रही नो व्हीकल जोन की कवायद | Patrika News
जयपुर

दो दशक पहले शुरुआत…नए सिरे से हो रही नो व्हीकल जोन की कवायद

राजधानी में नो व्हीकल जोन विकसित करने के लिए जेडीए ने कवायद शुरू कर दी है। पहले चरण में मालवीय नगर पुलिया के आस-पास के हिस्से को नो व्हीकल जोन किए जाने पर चर्चा चल रही है। हालांकि, यहां वाहनों की पार्किंग प्रोजेक्ट में बाधा है। इसको लेकर जेडीए विकल्प तलाश रहा है।

जयपुरMay 14, 2024 / 11:27 am

Ashwani Kumar

जयपुर. राजधानी में नो व्हीकल जोन विकसित करने के लिए जेडीए ने कवायद शुरू कर दी है। पहले चरण में मालवीय नगर पुलिया के आस-पास के हिस्से को नो व्हीकल जोन किए जाने पर चर्चा चल रही है। हालांकि, यहां वाहनों की पार्किंग प्रोजेक्ट में बाधा है। इसको लेकर जेडीए विकल्प तलाश रहा है। मालवीय नगर पुलिया के आस-पास के क्षेत्र के अलावा अन्य दो विकल्प जेडीए के अधिकारी और तलाश रहे हैं। अधिकारियों का ध्यान ज्यादा भीड़ वाले इलाकों को नो व्हीकल जोन विकसित करने पर है।

हालांकि, राजधानी में नो व्हीकल जोन की शुरुआत 20 वर्ष पहले हो गई थी। बापू बाजार को नो व्हीकल जोन बनाया था। लेकिन, कुछ ही महीने में इस प्रोजेक्ट ने दम तोड़ दिया। अब नए सिरे से कवायद की जा रही है। क्योंकि शहर में पैदल चलने वालों के लिए जगह सुरक्षित नहीं है।
देश में ये प्रसिद्ध नो व्हीकल जोन
-चांदनी चौक, दिल्ली
-चर्च स्ट्रीट, बेंगलूरु
-हजरतगंज, लखनऊ
-महाराजा बाड़ा, ग्वालियर
-एमजी रोड, पुणे
-खादर नवाज खान रोड, चेन्नई
-जनपथ, नई दिल्ली
-एमजी मार्ग, गंगटोक

ये योजना धरातल पर नहीं
-चौड़ा रास्ता और किशनपोल बाजार को जोड़ने वाले जिस हैरिटेजवॉक वे को नो व्हीकल जोन घोषित किया गया था।
-गोविंददेवजी मंदिर से जंतर-मंतर तक के हिस्से को भी नो व्हीकल जोन घोषित किया गया था।
हुआ कुछ नहीं: 2019-20 के राज्य बजट में विश्व विरासत परकोटे को ध्यान में रखते हुए नो व्हीकल जोन की घोषणा की गई थी। नवम्बर, 2019 में तत्कालीन मुख्य सचिव डीबी गुप्ता की अध्यक्षता में बैठक हुई।

Hindi News/ Jaipur / दो दशक पहले शुरुआत…नए सिरे से हो रही नो व्हीकल जोन की कवायद

ट्रेंडिंग वीडियो