स्टार्टअप के मुद्दों के समाधान के लिए होगा समिति का गठन

वेंचर कैपिटलिस्ट और स्टार्टअप- द्वारा उठाए गए मुद्दों का परीक्षण किया जाएगा

By: Jagmohan Sharma

Published: 08 Dec 2019, 10:30 PM IST

पणजी. उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआइआइटी) स्टार्टअप उद्योग और वेंचर कैपिटलिस्ट्स द्वारा उठाए गए मुद्दों को सुलझाने के लिए दो उच्चाधिकार प्राप्त समितियां गठित करेगा।
मौजूदा समय में वेंचर कैपिटलिस्ट्स के साथ आदान-प्रदान की कोई व्यवस्थिति प्रणाली नहीं है। स्टार्टअप ने आरबीआई और सेबी के कुछ सर्कुलर पर, सीबीडीटी और जीएसटी स्पष्टीकरण, कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय, फार्माश्युटिकल सेक्टर्स पर मंत्री के साथ विभिन्न मुद्दे उठाए हैं।
डीपीआइआइटी के सचिव गुरु प्रसाद मोहपात्रा ने आईएएनएस से खास बातचीत में कहा कि यह तय किया गया है कि प्रारंभ में प्रत्येक दो महीने पर और उसके बाद प्रत्येक तीन महीने पर वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल की अध्यक्षता में एक समीक्षा परिषद का गठन किया जाएगा, जिसमें वित्त, कारपोरेट मामले के सचिव, सीबीडीटी और सीबीईसी, आरबीआई, सेबी, वित्त सेवा विभाग के अध्यक्ष, वेंचर कैपिटल एसोसिएशन के सदस्य और स्टार्टअप शामिल होंगे। मोहपात्रा ने आगे कहा कि उद्योग -वेंचर कैपिटलिस्ट और स्टार्टअप- द्वारा उठाए गए मुद्दों का परीक्षण किया जाएगा।

Jagmohan Sharma Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned