राज्य के राशन कार्डधारी अब 12 और राज्यों में ले सकेंगे खाद्य सामग्री

राजस्थान में एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड परियोजना लागू

राजस्थान के राशन कार्डधारी अब प्रदेश के किसी भी जिले के साथ ही अब अन्य 12 राज्यो में से किसी में भी राशन दुकान से खाद्य सामग्री ले सकेंगे।

 

 

By: Sunil Sisodia

Published: 03 Jan 2020, 11:37 AM IST

जयपुर।
राजस्थान के राशन कार्डधारी अब प्रदेश के किसी भी जिले के साथ ही अब अन्य 12 राज्यो में से किसी में भी राशन दुकान से खाद्य सामग्री ले सकेंगे।

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय भारत सरकार की "एक राष्ट्र, एक राशनकार्ड" परियोजना के तहत राजस्थान को आंध्र प्रदेश तेलंगाना, गुजरात ,महाराष्ट्र, हरियाणा ,कर्नाटक ,केरल ,मध्य प्रदेश ,गोवा ,झारखंड एवं त्रिपुरा के साथ जोड़ दिया गया है। अब राजस्थान राज्य के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) के लाभार्थी 12 राज्यों में स्थित राशन की किसी भी दुकान से गेहूं प्राप्त कर सकेंगे।

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय भारत सरकार की और से जल्द ही नेशनल पोर्टेबिलिटी लागू कर दी जाएगी। ऐसे में देश का राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना का कोई भी लाभार्थी देश के किसी भी राज्य की राशन की दुकान से गेहूंँ प्राप्त कर सकेगा।

नेशनल पोर्टेबिलिटी लागू करने से पहले अभी इंटर स्टेट पोर्टेबिलिटी के तहत देश के 12 राज्यों को जोडा गया है।


इंटर स्टेट पोर्टेबिलिटी के ये फायदे

राज्य में इंटर स्टेट पोर्टेबिलिटी लागू होने से राजस्थान राज्य के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थी एक दूसरे राज्य की किसी भी राशन की दुकान से गेहूंँ प्राप्त कर सकते है। राजस्थान राज्य के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थी जो मजदूरी, व्यवसाय एवं अन्य कारण से अन्य राज्यो में जाते है, वे इन राज्यों में स्थित राशन की किसी भी दुकान से अपना गेहूंँ प्राप्त कर सकते है। इसके लिए अलग से नए राशन कार्ड की भी जरूरत नही है।

Sunil Sisodia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned