परनामी का दावा, एक बार कांग्रेस-एक बार भाजपा की इस बार टूटेगी धारणा

pushpendra shekhawat

Publish: May, 17 2018 07:13:37 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
परनामी का दावा, एक बार कांग्रेस-एक बार भाजपा की इस बार टूटेगी धारणा

एंटी इनकंबेंसी के मुद्दे पर बोले परनामी

अरविन्द शक्तावत / जयपुर। भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने दावा किया है कि प्रदेश में भाजपा फिर से सरकार बनाएगी। इसके साथ ही यह धारणा भी बदल जाएगी कि प्रदेश में एक बार कांग्रेस और एक बार भाजपा की सरकार बनती है। भाजपा प्रदेश कार्यालय में मीडिया कर्मियों से बातचीत में आगामी विधानसभाओं के चुनाव में एंटी इनकंबेंसी के मुद्दे को लेकर अशोक परनामी ने कहा कि एंटी इनकंबेंसी को जोड़कर किसी भी चुनाव परिणाम को नहीं देखा जाना चाहिए।

 

राजनीतिक दल की नीतियों के आधार पर चुनाव को देखना चाहिए। कांग्रेस की देश को तोडऩे वाली और जातियों में बांटने वाली नीतियां थी और तुष्टिकरण की राजनीति जो कांग्रेस कर रही थी उसको देश की जनता ने नकारने का काम किया है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमेशा एक ही बात कही है कि सबका साथ और सबका विकास देश की 125 करोड़ जनता को एक साथ लेकर राष्ट्र का निर्माण करना चाहते हैं। भाजपा सभी को एक सूत्र में बांधकर राष्ट्र का निर्माण करना चाहती है और देश की जनता ने उसको पसंद किया है।

 

भाजपा की ओर से विधानसभा क्षेत्र में करवाए जा रहे सर्वे को लेकर कहा कि कोई भी राजनीतिक दल होता है वह निरंतर पार्टी के अंदर इस तरह के सर्वे करवाता रहता है और जो उसकी कमियां होती हैं। उन कमियों को वह दूर भी करता है। भाजपा भी निरंतर इस तरह की गतिविधियां करती रहती है।

 

कर्नाटक में जीत से जोश का संचार
कर्नाटक में भाजपा के सबसे बड़े दल बनने से प्रदेश के भाजपा कार्यकर्ताओं में भी जोश का संचार हुआ है। प्रदेश में दो लोकसभा और एक विधानसभा उप चुनाव में मिली हार के बाद कर्नाटक चुनावों में मिली जीत से भाजपा के कार्यकर्ताओं को यहां फिर से एक उम्मीद बंधी है। दूसरी तरफ, यह माना जा रहा है कि कुछ ही समय के बाद प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा भी हो जाएगी और प्रदेश एवं जिला स्तर पर नई टीमों का गठन भी होगा। बूथ मैनेजमेंट का काम भी तेजी से होगा।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned