अधीनस्थ विभागों के शीघ्रलिपिक भी जल्द होंगे पदोन्नत


मुख्य सचिव निरंजन आर्य के साथ प्रमुख शासन सचिव, वित्त एवं कार्मिक विभाग की बैठक में निकलेगा रास्ता

By: Rakhi Hajela

Published: 24 Dec 2020, 06:10 PM IST

राजस्थान निजी सहायक संवर्ग महासंघ के पदाधिकारियों ने मुख्य सचिव निरंजन आर्य के साथ आयोजित बैठक में प्रदेश अध्यक्ष रमन पारीक ने विस्तृत तथ्यात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए आग्रह किया कि अधीनस्थ विभागों का शीघ्रलिपिक संवर्ग प्रदेश में अकेला ऐसा संवर्ग है, जिसमें पदोन्नति न के बराबर है। 25 से 30 वर्ष की राजकीय सेवा के बाद प्रथम पद स्टेनो से ही सेवानिवृत्त होने पर खुद को अपमानित महसूस करता है । वर्ष 1997 बैच तक के ऐसे सभी स्टेनोग्राफर्स को एक बारगीय शिथिलता देते हुए अतिरिक्त निजी सचिव पद पर पदोन्नति दी जाए। इस तरह बिना किसी आर्थिक भार के शीघ्रलिपिक संवर्ग के कार्मिकों को पदोन्नति का लाभ मिल सकेगा। बैठक में महासंघ के मुख्य संरक्षक ठाकुर दास ने आर्य से निवेदन किया कि इस संवर्ग के कार्मिकों का मनोबल बढ़ाने के लिए पदोन्नति देने के प्रयास होने चाहिए।
प्रदेश अध्यक्ष पारीक ने आर्य से व्यक्तिगत अनुरोध किया कि मंत्रालयिक संवर्ग की भांति शीघ्रलिपिक संवर्ग को भी रिव्यू किया जाकर पांच पदोन्नति का लाभ दिया जाए। वहीं जिलाध्यक्ष जयपुर चंद्रभान बैरवा ने बताया कि यह संवर्ग वर्ष 2013 से लगातार अपनी वाजिब मांगों के लिए संघर्ष कर रहा है। सरकार के हर दरवाजे को खटखटा रहा है। पारीक ने बताया कि आर्य ने इस संबंध में शीघ्र ही वित्त एवं कार्मिक विभाग के उच्च अधिकारियों के साथ बैठक कर रास्ता निकालने का आश्वासन दिया है। निरंजन आर्य के साथ आज की बैठक में प्रदेश अध्यक्ष रमन पारीक, मुख्य संरक्षक ठाकुर दास, मुख्य सलाहकार राजेश माथुर, जयपुर जिलाध्यक्ष चंद्रभान, जिला महामंत्री नवीन पारीक एवं महानरेगा से ऋषि गुप्ता उपस्थित थे।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned