..नहीं मिलेगा आंगनबाड़ी केंद्र पर आने वाले बच्चों को पोषाहार

Teena Bairagi

Publish: May, 18 2018 12:08:50 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
..नहीं मिलेगा आंगनबाड़ी केंद्र पर आने वाले बच्चों को पोषाहार

केंद्र सरकार ने जारी किए निर्देश

मानदेय कर्मियों को 30 मई तक करवाना होगा आधार नामांकन
—रेपीड रिपोर्टिंग सिस्टम में फीड की जानी है जानकारी
—केंद्र सरकार ने जारी किए निर्देश
—विभाग ने भेजा रिमाइंडर
जयपुर
महिला एवं बाल विकास विभाग में समेकित बाल विकास सेवा के तहत काम कर रहे मानदेय कर्मियों को अब अपना आधार नामांकन शीघ्र ही करवाना होगा। विभाग ने सभी जिलाधिकारियों को अपने क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं में लगे मानदेय कर्मियों के आधार नामांकन 30 मई तक रेपीड रिपोर्टिंग सिस्टम में फीड करने के निर्देश जारी किए है। विभाग ने इसके लिए पिछले महीने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश जारी किए थे लेकिन कुछ जिलों में अभी तक इस बारे में काम नहीं किया गया।
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने 31 मार्च तक इस कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए थे लेकिन जिलों में कार्यरत मानदेय कर्मियों ने आधार नामांकन नहीं करवाया है। इसके चलते उनसे संबंधित जरुरी जानकारी आॅनलाइन फीड नहीं हो सकी है। इसके चलते न सिर्फ उन्हें मानदेय भुगतान करने में परेशानी होगी बल्कि उनके कार्य का मूल्यांकन करने में भी दिक्कत आ रही है। केंद्र के निर्देश के संबंध में रिमाइंडर भेजकर सभी जिलाधिकारियों को अब 30 मई तक आधार नामांकन बनवाकर आॅनलाइन फीड करने को कहा गया है।

पोषाहार लेने वालों के लिए भी होगा आधार जरुरी—
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पोषाहार लेने वाले लाभार्थियों के लिए भी आधार नामांकन जरुरी किया गया है। 30 मई के बाद सिर्फ उन्हीं बच्चों और गर्भवती महिलाओं को पोषाहार मिलेगा जिनके पास आधार नंबर है। इसकी जानकारी बकायदा प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्र पर दर्ज की जाएगी। उल्लेखनीय है कि विभाग की ओर से प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्र पर आने वाले बच्चों और महिलाओं को दलिया, खिचड़ी, हलवा, बिस्किट, मूंग व उपमा आदि चीजे खाने के लिए दी जाती है। जिसकी मात्रा और कैलोरी सभी कुछ निर्धारित है।

फैक्ट फाइल—
प्रदेश में है तकरीबन 63 हजार आंगनबाड़ी केंद्र
परियोजनाएं हैं 304
प्रत्येक केंद्र पर आते है 20 से 25 बच्चे

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned