कचरे में से प्लास्टिक पैकेट खा रहे आवारा पशु

कचरा संग्रहण से बने अस्थाई कचरा डिपो : गोनेर रोड पर इंदिरा गांधी सेक्टर-सात का मामला, वार्डों से ला रहे कचरे को अस्थाई डिपो में डाल रहे, डंप की दुर्गंध से लोग परेशान

By: Gaurav Mayank

Updated: 21 Jun 2021, 06:00 PM IST

जयपुर। कोरोना महामारी के खतरे के बीच एक ओर नगर निगम साफ-सफाई के बड़े-बड़े दावे कर रहा है। वहीं इसकी हकीकत निगम के दावों की पोल खोल रही है। ऐसा ही कुछ नजारा गोनेर रोड स्थित इंदिरा गांधी सेक्टर-सात के पास देखने को मिल रहा है। नगर निगम ग्रेटर के वार्डों के डोर-टू-डोर घरों से कचरा संग्रहण कर सड़क किनारे अस्थाई कचरा डिपो बना दिए गए। सड़क किनारे निगम के वाहन कचरा खाली कर रहे हैं। इससे कचरे के ढेर लग जाते हैं।

कचरे के ढेर में आवारा पशुओं व सुअरों का जमावड़ा लगा रहता है। कचरा डिपो सड़क किनारे होने के कारण पशु आपस में झगड़ते हुए अचानक सड़क पर आने से कई बार वाहन चालकों का एक्सिडेंट तक हो गया। वहीं कई बार रात में वाहन चालक पशुओं के झुंड से टक्कर लगने से जख्मी हो गए। उधर, कचरा डिपो के पास ही हाउसिंग बोर्ड की इंदिरा गांधी नगर कॉलोनी के लोगों का रहना दुश्वार हो रहा है।

बीमारियां फैलने का खतरा
स्थानीय लोगों ने बताया कि कचरे के ढेर से चारों तरफ गंदगी फैली रहती है और हवा के साथ थैलियां सड़क के साथ कॉलोनी में उडऩे लग जाती है। कचरे के ढेर की गंदगी से चारों तरफ दुर्गंध फैली रहती हैद्व जिससे लोगों का बाहर घूमने के साथ बैठना भी दुश्वार हो रहा है। गंदगी से मच्छर पनप रहे हैं और बीमारियां फैलने का खतरा बना हुआ है। स्थानीय लोगों ने नगर निगम अधिकारियों सहित जनप्रतिनिधियों को शिकायत की, लेकिन समाधान नहीं निकला। कचरे के ढेर में गाय कचरा और प्लास्टिक की थैलियों से पेट भरने को मजबूर हैं।

नगर निगम के छह वार्डों का कचरा मेरे वार्ड में डाला जा रहा है। आबादी के पास अस्थाई कचरा डिपो से स्थानीय लोगों के साथ राहगीरों को परेशानी को देखते हुए निगम अधिकारियों सहित महापौर को पत्र देकर दूसरी जगह शिफ्ट करने के लिए अवगत कराया है। अस्थाई कचरा डिपो को जल्द ही हटा दिया जाएगा।
छोटूराम मीणा, पार्षद, वार्ड 120

Gaurav Mayank
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned