कोविड रोकने के लिए सख्ती भी करनी होगी और समझाइश भी- मुख्यमंत्री गहलोत

Strict action has to be taken to prevent covidzकोविड के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को एक बार फिर से लाइव बैठक में चिंता जाहिर करने हुए कहा कि देश में मरीजों का आंकड़ा एक लाख पार कर गया है, इतने मरीज तो पीक में भी नहीं आए थे।

By: Ashish

Published: 06 Apr 2021, 12:25 AM IST

जयपुर

कोविड के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को एक बार फिर से लाइव बैठक में चिंता जाहिर करने हुए कहा कि देश में मरीजों का आंकड़ा एक लाख पार कर गया है, इतने मरीज तो पीक में भी नहीं आए थे। गहलोत ने कहा कि ऐसे में सख्ती करनी पड़ेगी, लोगों को समझाना पड़ेगा। कोविड संक्रमण के साथ मृत्यु के जो आंकड़े आए हैं वह बहुत डरावने हैं। आने वाले दिनों में केसों की संख्या बढ़ेगी। गहलोत ने कहा कि पुलिस, प्रशासन को और सख्ती करनी पड़ेगी । कोविड प्रोटोकॉल की पालना करवाएं। नो मास्क, नो एंट्री के नारे को बुलंद करना होगा। जिलों में कलेक्टर, एसपी मीडिया के सहयोग से जनजागरूकता लाए। गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार को सभी आयु के लोगों के लिए वैक्सीन की व्यवस्था करनी चाहिए। वर्तमान में लगाई जा रही दो वैक्सीनों के अतिरिक्त अन्य वैक्सीनों को भी अनुमति देनी चाहिए। इसके लिए केन्द्र को पत्र लिखा है।गहलोत ने कहा कि नीति आयोग सदस्य डॉ वीके पॉल ने भी कहा है कि स्थिति बद से बदतर होती जा रही है।

गहलोत ने कहा कि कोरोना को आए एक साल बीतने के बाद लापरवाही होने लगी। किसी को दोष नहीं दे सकते। कल्पना नहीं थी कि दूसरी लहर इस तरह आएगी। कोविड के आंकड़े डराने वाले हैं। उम्मीद नहीं थी कि इस तरह केस बढ़ जाएंगे। गहलोत ने कहा कि 90 लोगों ने मास्क लगाना छोड़ दिया है। पुलिस प्रशासन को सख्ती करनी पड़ेगी। गहलोत ने कहा कि 8 अप्रेल को पीएम मोदी मुख्यमंत्रयों के साथ बाद करेंगे। उस दौरान अगर विचार आदान प्रदान का अवसर मिला तो इस खुली बैठक में सामने आए सुझावों को केन्द्र के सामने रखा जाएगा। गहलोत ने कहा कि कोविड से लड़ने के लिए आयुर्वेद समेत चिकित्सा की अन्य पद्धतियों का उपयोग होना चाहिए। अधिकारी जनहित में कुछ फैसले अपने स्तर पर भी कर लेने चाहिए। इस लाइव बैठक में कंमेंट के जरिए कई स्थानों पर कोविड गाइडलान की पालना नहीं होने की मिली शिकायतों पर गहलोत ने अधिकारियों को ध्यान देने के निर्देश भी दिए।

एक दिन में 5 लाख 44 हजार टीकाकरण
बैठक में चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ् महाजन ने बताया कि सोमवार को राज्य में करीब साढ़े पांच लाख लोगों का टीकाकरण किया गया। बैठक में विशेषज्ञ चिकित्सकों ने कोविड प्रोटोकॉल की पालना करवाने के लिए सख्ती बरतने के सुझाव दिए। गहलोत ने कहा कि देश् में सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन राजस्थान में हो रहा है। गहलोत ने चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए पंजीकरण के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए जिला कलेक्टर्स को निर्देश दिए। गहलोत ने युवाओं से अपील की कि पंजीकरण करवाएं।

28 जिलों में 127 माइक्रो कंटेनमेंट जोन
बैठक में प्रमुख शासन सचिव गृह अभय कुमार ने बताया कि 28 जिलों में 127 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। 28 जिलों में 327 संयुक्त निरीक्षण टीम बनाई गई हैं। कई स्थानों पर 72 घंटे के लिए सीज की कार्रवाई की गई है। बीएलओ के साथ अन्य सरकारी कार्मिकों को शामिल करके 2829 टीम बनाई गई हैं जो कि लोगों को वैक्सीनेशन के लिए घर घर जाकर जागरूक किया जा रहा है।


9 अप्रेल से आरक्षित करने होंगे बैड

चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ सुभाष गर्ग ने कहा मेडिकल इंफ्रास्टक्चर को 10 गुना बढ़ाकर चलना होगा। गर्ग ने कहा कि शहरों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों को भी बंद करना चाहिए। साथ ही कहा कि संविदा पर स्टॉफ रखकर मेनपावर की पूर्ति की जाए। कोविड प्रोटोकॉल की कड़ाई से पालना करवाई जाए। चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने कहा कि निजी अस्पतालों को 9 अप्रेल तक अपनी कुल क्षमता के 25 फीसदी बेड आरक्षित रखने होंगे।


सख्ती भी, समझाइश भी

गहलोत ने कहा कि सख्ती भी करनी है, समझाइश भी करनी है। सभी को मिलकर मुकाबला करना होगा। कोरोना की दूसरी वेब पहली वेब से अधिक खतरनाक है। पहले बिना अनुभव राज्य कामयाब हुआ। अब अनुभव साथ है तो हम कामयाब होंगे।
गहलोत ने कहा कि सख्ती होनी जरूरी है। पुलिस और प्रशासन इस काम को देंखे। वैक्सीन के बाद भी मास्क लगाना जरूरी है। गहलोत ने कहा कि लोग 181 और राज्य हेल्पलाइन 0141—2922272 पर सुझाव दे सकते हैं।

वेंटीलेटर से जुड़ी समस्या बताई

बैठक में सामने आया कि पीएम केयर के तहत मिले वेंटीलेटर सही तरह काम नहीं कर रहे हैं। जगह-जगह से शिकायतें सामने आ रही हैं। करीब 1200 से 1500 वेंटीलेटर मिले थे। अधिकारियों ने सीएम को समस्या से अवगत करवाया और कहा कि पुराने वेंटीलेटर से काम लिया जा रहा है। केन्द्र सरकार की टीम और कंपनी को भी अवगत करवा दिया है। सीएम अशोक गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कहा कि कितने वेंटीलेटर सही काम नहीं कर रहे हैं, इसका आंकड़ा जुटाएं।इस चीज को ऑन रिकॉर्ड लिया जाए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned