राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: बेरोजगारों को वर्दी पहनाने से पहले उतरवाई शर्ट, लंबी बाजुओं पर चली कैंची

Nidhi Mishra

Publish: Jul, 14 2018 11:42:20 AM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: बेरोजगारों को वर्दी पहनाने से पहले उतरवाई शर्ट, लंबी बाजुओं पर चली कैंची

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

 

 

जयपुर। पुलिस भर्ती परीक्षा के लिए पहले दिन दो पारी में पाली जिले में स्थापित चार केन्द्रों में 1632 अभ्यर्थियों को परीक्षा दिलाई गई। इस दौरान परीक्षा केन्द्रों के बाहर तैनात पुलिस कर्मियों ने नकल की आशंका को देखते हुए जांच करने के दौरान अभ्यर्थियों की शर्ट, जूते व जेवर उतारकर अन्य वस्तुओं को परीक्षा केन्द्र से बाहर रखवाया। शनिवार सुबह 10 बजे पहली पारी में शुरू हुई परीक्षा से पूर्व 7 बजे से परीक्षा केन्द्रों के बाहर अभ्यर्थियों की भीड़ जमा हो गई थी। परीक्षा केन्द्रों के बाहर तैनात पुलिस कर्मियों ने 8 बजे से अभ्यर्थियों के दस्तावेजों की जांच करते हुए कई अभ्यर्थियों के फुल आस्तीन की पहनी शर्ट व जूते-चम्पल भी उतरवाए। इस दौरान महिला अभ्यर्थियों के पहने जेवर भी उतरवाए गए। बाद में 9 बजे अभ्यर्थियों को परीक्षा केन्द्रों में प्रवेश दिया गया। 10 बजे के बाद परीक्षा केन्द्रों के बाहर जमा लोगों को हटा दिया गया। अभ्यर्थियों की भीड़ व सुरक्षा को देखते हुए शहर के विभिन्न स्थानों पर पुलिस के जवान तैनात किया गए। वहीं परीक्षा केन्द्रों के बाहर भी भारी पुलिस जाप्ता तैनात था।

 


जालोर में एक दिन पहले ही पुलिस जाप्ता लगाया
पुलिस कांस्टेबल परीक्षा से पूर्व ही जोधपुर में पकड़े गए नकल गिरोह में एक बार फिर से जालोर जिले की भूमिका सामने आने पर इस परीक्षा में संभावित नकल को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन काफी मशक्कत करता नजर आया। परीक्षा के लिए जालोर में केवल 2 केंद्र अलॉट किए गए।जालोर में इम्मानुएल सीनियर सैकंडरी और जालोर पब्लिक स्कूल चिह्नित थे। जिसमें सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम थे और एक दिन पूर्व शुक्रवार शाम को ही पुलिस जाब्ता तैनात हो चुका था। एएसपी राजेंद्रसिंह कस्बां के नेतृत्व में पुलिस ने दोनों केंद्रों का अवलोकन किया। खास बात है कि राजस्थान में किसी भी कंपीटिशन एक्जाम के नकल प्रकरणों में जालोर जिले के नकल गिरोह की भूमिका सामने आती है। यही कारण है कि अब जालोर जिले में विशेष तौर से सांचौर में तो ऐसे किसी भी एक्जाम के लिए सेंटर तक अलॉट तक नहीं किया जा रहा है। वहीं जालोर जिले में अन्य केंद्रों पर भी काफी ज्यादा एहतियात बरती जाती है। विभिन्न स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था परीक्षा को लेकर सवेरे से ही अभ्यर्थी केंद्रों तक पहुंचने शुरू हो गए। निर्धारित समय पर अभ्यर्थियों की बारीकी से जांच के बाद केंद्रों में प्रवेश दिया गया। केंद्र के बाहर भी पुलिस का जाब्ता तैनात रहा, जहां पर प्रवेश पत्र की जांच की गई। उसके बाद केंद्र के मुख्य गेट पर मेटन डिटेक्टर से अभ्यर्थियों की जांच के साथ केंद्र में प्रवेश दिया गया।

 


लंबी बाजू पर चली कैंची
झुंझुनूं जिले में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा शनिवार को कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के साथ में शुरू हुई। परीक्षा देने पहुंचे परीक्षार्थियों को जांच के बाद केन्द्र में प्रवेश दिया गया। महिला अभ्यर्थियों की कान की बालियां, दुपट्टा आदि बाहर रखवाने के बाद ही प्रवेश दिया गया। जो परीक्षा लम्बी बाजू के शर्ट, सलवार सूट पहनकर पहुंचे, पुलिस कर्मियों ने लम्बी बाजू वालों पर कैंची चला दी।शहर में दस सहित जिले में 28 सेन्टर बनाए गए हैं।

 

 

 

परीक्षा केंद्रों पर जैमर
राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल के 13 हजार 142 पदों के लिए हो रही दो दिवसीय भर्ती परीक्षा के पहले दिन शनिवार को नागौर में परीक्षार्थियों में काफी ज्यादा उत्साह नजर आया। परीक्षार्थी समय से पहले ही केंद्रों पर पहुंच गए जिनकी पुलिस तथा केंद्राधीक्षकों ने गहनता के साथ जांच करते हुए घड़ी, चेन, अंगूठी, कान के टॉप्स, लॉकिट, जेवरात, पर्स व कपड़ों में बडराबटन (जड़ाऊ पिन), बेल्ट सहित अन्य चीजें बाहर ही निकलवा ली। पूरी आस्तीन की शर्ट व जूते पहनकर आने वाले परीक्षार्थियों के शर्ट तथा फुटवियर को बाहर ही उतारने पड़े। वहीं परीक्षा केंद्रों में जेमर भी लगाया गया। परीक्षा को लेकर जिला पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख, उपखंड अधिकारी परसाराम टाक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजकुमार चौधरी सहित अन्य अधिकारियों ने केंद्रों का जायजा लिया। वहीं परीक्षार्थियों की बायोमैट्रिक उपस्थित दर्ज की गई। परीक्षार्थी को अपने साथ फोटो युक्त पहचार पत्र साथ लाना होगा। मुख्यालय पर 4, जिलेभर में 21 केंद्र परीक्षा को लेकर जिला मुख्यालय पर चार परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

 

 

मूसलाधार बारिश में परीक्षा केन्द्रों पर पहुचें परीक्षार्थी
बांसवाड़ा में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा शनिवार सुबह से प्रारंभ हुई। परीक्षार्थी मूसलाधार बारिश के बीच परीक्षा पर पहुंचे। पूर्व में नकल के प्रकरण सामने आने के बाद परीक्षा के लिए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। जिले के सभी परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जा रही है। परीक्षा के दौरान केन्द्र के आसपास के करीब पांच किलोमीटर क्षेत्र में नेट बंद है। वहीं अभ्यर्थियों की बायोमैट्रिक से उपस्थिति दर्ज की गई। तकनीकी विशेषज्ञों का दल भी परीक्षा गतिविधियों पर नजरें गड़ाए हुए हैं। उल्लेखनीय है कि जिले में 15 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं, जिसमें 10 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसके बाद रविवार को भी परीक्षा आयोजित की जाएगी। वही गोविंद गुरू कॉलेज के बाहर परिजनों को करीब चार घंटे बारिश में परिक्षा केन्द्रों से दूर बाहर रोड पर खड़ा रहना पड़ा जिसके कारण परिजन परेशान रहे व बारिश से बचने के लिए इधर-उधर जगह ढूंढते रहे। वहीं एक महिला हरियाणा से अपने 9 माह के बच्चे को लकर पहुंची, जिसके साथ आए उसके भांजे ने बच्चे को संभाला। परीक्षा केन्द्र पर पुलिस कर्मियों ने कड़ी जांच के बाद परीक्षार्थियों को परीक्षा में बैठने दिया गया।

 

 

 

नागौर शहर के मेड़ता सिटी में तीन परीक्षा केन्द्रों पर पहली पारी की शांति पूर्वक परीक्षा शुरू हुई। साथ ही जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, अजमेर आदि जिलों के सभी सेंटर्स पर भी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा शांति पूर्वक आयोजित की गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned