Mines Department: अवैध खनन, परिवहन, भण्डारण पर सख्त सजा

माइंस विभाग ( Mines Department ) द्वारा राज्यभर में अवैध खनन ( illegal mining ), परिवहन और भण्डारण पर सख्त कार्यवाही जारी है। माइंस विभाग द्वारा बड़ी कार्यवाही करते हुए सीकर एवं नीम का थाना में आयरन ओर के 37 स्टॉकिस्टों को निष्क्रिय कर दिया गया है वहीं कोटपूतली में दो तुलायंत्रों को सीज किया है। राज्य भर से प्राप्त सूचनाओं के अनुसार एक सितंबर से अब तक पिछले आठ दिनों में अवैध परिवहन ( illegal transport ) करते 165 वाहनों पर कार्यवाही के साथ ही पुलिस में 21 एफआईआर दर्ज कराई गई है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 10 Sep 2021, 01:09 PM IST

जयपुर। माइंस विभाग द्वारा राज्यभर में अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण पर सख्त कार्यवाही जारी है। माइंस विभाग द्वारा बड़ी कार्यवाही करते हुए सीकर एवं नीम का थाना में आयरन ओर के 37 स्टॉकिस्टों को निष्क्रिय कर दिया गया है वहीं कोटपूतली में दो तुलायंत्रों को सीज किया है। राज्य भर से प्राप्त सूचनाओं के अनुसार एक सितंबर से अब तक पिछले आठ दिनों में अवैध परिवहन करते 165 वाहनों पर कार्यवाही के साथ ही पुलिस में 21 एफआईआर दर्ज कराई गई है। विभागीय अधिकारियों द्वारा रात्रिकालीन गश्त में अवैध खनिज व बजरी परिवहन करते वाहनों पर राज्यभर में सख्ती से कार्यवाही जारी है। बीकानेर कार्यालय द्वारा जिप्सम के अवैध गतिविधि पर दो जेसीबी और एक ट्रक जब्त किया है। उदयपुर संभाग मेें गोगुंदा व ईसवाल में फेल्सपार का अवैध परिवहन करते पांच ट्रोले जब्त किए गए है। दौसा से अवैध खनन पर कार्यवाही की है।
एसीएस माइंस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश में अवैध खनन व परिवहन के प्रति गंभीर है और पिछले दिनों विभागीय गतिविधियों की समीक्षा के दौरान दिए गए निर्देशों के अनुसार विभाग द्वारा राज्यभर में अनौपचारिक अभियान चलाते हुए सख्त कार्यवाही की जा रही है। खान मंत्री प्रमोद जैन भाया भी नियमित समीक्षा के साथ ही अधिकारियों को सख्त संदेश दिया है कि अवैध खनन, परिवहन व भण्डारण की किसी तरह की गतिविधियो को सहन नहीं किया जाएगा।
डॉ. अग्रवाल ने बताया कि आयरन ओर के सीकर में 23 और नीम का थाना क्षेत्र में 14 स्टाकिस्टों पर अनियमितता देखते हुए उनकी गतिविधियों को निष्क्रिय कर दिया गया है। इसी तरह से जांच के दौरान अनियमितता पाए जाने पर पावटा में दो तुला यंत्रों को सीज कर दिया गया है। राज्य में पुलिस में 21 एफआईआर दर्ज कराई गई है, जिसमें से 15 एफआईआर टोंक, 3 नीम का थाना और एक-एक एफआईआर कोटपूतली, झुन्झुनू और सोजत में दर्ज कराई गई है। पिछले आठ दिनों में राज्य में अवैध परिवहन में 165 वाहन जब्त किए जा चुके है। इसके साथ ही एक करोड़ रुपए से अधिक का जुर्माना वसूला जा चुका है। खनिज में अनियमित गतिविधियों के विरुद्ध कार्यवाही के लिए विभाग की पूरी मशीनरी को सक्रिय किया गया है।
निदेशक माइंस केबी पण्ड्या ने बताया कि राज्य सरकार की गंभीरता को इसी से समझा जा सकता है कि एसीएस माइंस डॉ. सुबोध अग्रवाल के स्तर पर अवैध खनन व परिवहन गतिविधियों पर सख्त कार्यवाही के निर्देश के साथ ही नियमित समीक्षा की जा रही है। राज्य स्तर पर अतिरिक्त निदेशक श्री बीएस सोढ़ा द्वारा समन्वय व मोनेटरिंग की जा रही है।
इन पर हुई कार्यवाही
जयपुर वृत में एसएमई प्रताप मीणा के निर्देशन में अधिकारियों द्वारा की जा रही कार्यवाही में पिछले आठ दिनों में जोन में 53 प्रकरण सामने आए हैं वहीं सीकर झुंझुनू व नीम का थाना में बड़ी कार्यवाही की गई है। जयपुर और टोंक में 16-16 प्रकरण, नीम का थाना में 8, झुन्झुनू में 6, दौसा में एक प्रकरण सहित 53 प्रकरणों में कार्यवाही की गई है। इसी तरह से उदयपुर संभाग में अतिरिक्त निदेशक महेश माथुर के निर्देशन में भीलवाड़ा में 26, उदयपुर में 24 और राजसमंद में 3 प्रकरणों में अवैध खनन के एक प्रकरण सहित अवैध परिवहन के 53 प्रकरणों में कार्यवाही के साथ ही 31 लाख रुपए से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। उदयपुर संभाग मेें गोगुंदा टोल नाका पर 2 व ईसवाल में 3 ट्रोले फेल्सपार का अवैध परिवहन करते पांच ट्रोले जब्त किए गए है। जोधपुर संभाग में अतिरिक्त निदेशक एमएल भाटी के निर्देशन में एक सप्ताह में 30 प्रकरणों में कार्यवाही की गई है। इसमें सोजतसिटी मेें 16, सिरोही में 7, जोधपुर, जालोर और बाड़मेर में दो-दो और बालेसर में एक प्रकरण में कार्यवाही करते हुए 30 वाहनों की जब्ती, 41 लाख रुपए से अधिक का जुर्माना लगाया गया है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned