Student Accident Insurance Plan- 27 हजार छात्रों से 10.80 लाख रुपए अधिक वसूले

Student Accident Insurance Plan-राजस्थान विश्वविद्यालय की ओर से चलाई जा रही छात्र दुर्घटना बीमा योजना विवाद में आ गई है। विवाद है विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से दुर्घटना बीमा के लिए ली जा रही प्रीमियम राशि को लेकर। विवि प्रशासन प्रति छात्र 100 रुपए लिए जा रहे हैं लेकिन बीमा दिया जा रहा है 60 रुपए के हिसाब से।

By: Rakhi Hajela

Published: 13 Oct 2021, 07:40 PM IST

राजस्थान विवि : बीमे के लिए 100 रुपए, लाभ मिलेगा 60रुपए का
27 हजार छात्रों से 10.80 लाख रुपए अधिक वसूले
10 लाख रुपए के स्थान पर दे रहे साढ़े छह लाख का बीमा
जयपुर।
राजस्थान विश्वविद्यालय की ओर से चलाई जा रही छात्र दुर्घटना बीमा योजना विवाद में आ गई है। विवाद है विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से दुर्घटना बीमा के लिए ली जा रही प्रीमियम राशि को लेकर। विवि प्रशासन प्रति छात्र 100 रुपए लिए जा रहे हैं लेकिन बीमा दिया जा रहा है 60 रुपए के हिसाब से। जानकारी के मुताबिक विवि ने दुर्घटना बीमा के लिए बीमा कम्पनी से 60 रुपए का ही एमओयू किया है इसके बाद भी छात्रों से 40 रुपए अधिक वसूले गए।
10.80 लाख रुपए अधिक वसूले
जानकारी के मुताबिक राजस्थान विश्वविद्यालय के 27 हजार विद्यार्थियों से शिक्षा सत्र 2021-22 के लिए 100 रुपए प्रति छात्र प्रीमियम राशि छात्र दुर्घटना बीमा के नाम पर प्रवेश के समय ली गई थी। यानी तकरीबन 10.80 लाख रुपए अधिक वसूले गए। विद्यार्थियों से दुर्घटना बीमा के तौर पर छात्रों से अधिक पैसे लिए जाने का एनएसयूआई ने विरोध करना शुरू कर दिया है। एनएसयूआई के प्रवक्ता रमेश भाटी ने कहा है कि विश्वविद्यालय द्वारा दुर्घटना बीमा के लिए छात्रों से अधिक रुपए ले लिए,जो इस कोरोना काल में उपजे आर्थिक संकट में सरासर गलत है। जब विवि ने 100 रुपए लिए है तो इसी अनुसार दुर्घटना बीमा की सहायता राशि इसी अनुसार दिलाई जानी चाहिए।
इसके साथ ही उन्होंने कहा पिछले 2 सालों से विश्वविद्यालय में छात्र संघ के चुनाव नहीं हुए हैं जबकि प्रत्येक छात्र से 300 रुपए छात्र संघ वह अन्य गतिविधियों के लिए विश्वविद्यालय पहले ही ले चुका है। उन्होंने कहा कि एनएसयूआई विवि प्रशासन के इस कदम का विरोध करेगी। इस राशि का उपयोग छात्र हित में किया जाना चाहिए था लेकिन विवि अन्य कार्यों में इसे उपयोग में ले रहा है जो उचित नहीं है। भाटी ने कहा है कि राजस्थान विश्वविद्यालय देश का पहला ऐसा विश्वविद्यालय है जहां छात्रों को दुर्घटना बीमा की सुविधा दी जा रही है लेकिन बीमा राशि 100 रुपए प्रति छात्र के हिसाब से दस लाख रुपए होनी चाहिए थे साढ़े छह लाख नहीं।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned