scriptSuccessful test of advanced version of Pinaka Mk-1 | पिनाका एमके-1 के एडवांस वर्जन का सफल परीक्षण | Patrika News

पिनाका एमके-1 के एडवांस वर्जन का सफल परीक्षण

जैसलमेर की पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में भारत में निर्मित पिनाका एमके-1 के एडवांस वर्जन ने सटीक निशाने साध कर 45 किमी दूर टारगेट को नेस्तनाबूद कर दिया।

जयपुर

Published: June 20, 2022 07:50:14 pm

जैसलमेर की पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में भारत में निर्मित पिनाका एमके-1 के एडवांस वर्जन ने सटीक निशाने साध कर 45 किमी दूर टारगेट को नेस्तनाबूद कर दिया। सेना और डीआरडीओ अधिकारियों की मौजूदगी में अपग्रेडेड रॉकेट प्रणाली के ताबड़तोड़ प्रहार से काल्पनिक शत्रु धराशायी हो गया। यह माना जा रहा है कि पिनाका के इस अपडेट वर्जन से सेना की मारक क्षमता में काफी बढ़ोतरी हो जाएगी। पिनाका के एडवांस वर्जन की कामयाबी पर वहां मौजूद अधिकारियों ने एक दूसरे को बधाई दी। इससे पहले भी पोकरण रेंज में ही गत 9 अप्रेल को पिनाका रॉकेट प्रणाली का सफल परीक्षण किया गया था।

pinaka_1.jpg

1980 में डीआरडीओ ने की विकसित करने की शुरुआत: डीआरडीओ ने वर्ष 1980 में पिनाका रॉकेट सिस्टम को विकसित करने की शुरुआत की थी। इसके दस वर्ष बाद पिनाका मार्क वन का परीक्षण भी सफल रहा। पिनाका सिस्टम की एक बैटरी में छह लॉन्चिंग वाहन होते हैं। पिनाका को एक गाइडेड मिसाइल की तरह तैयार किया गया है। यह नई तकनीक से निर्मित है तथा नई जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया गया है।

मजबूत रॉकेट सिस्टम

  • 75 किलोमीटर तक दुश्मन पर हमला करने की पिनाका में क्षमता। करगिल युद्ध के दौरान पिनाका मार्क-1 का प्रयोग हुआ था।
  • पिछले 10 वर्ष से पिनाका भारतीय सेना के प्रयोग में लाई जा रही है।
  • पुणे स्थित एआरडीई ने पिनाका रॉकेटों के लिए फ्यूज विकसित किए हैं।
  • पिनाका एमके-1 अपग्रेडेड राकेट प्रणाली है, जिसका पूर्व में भी परीक्षण किया गया जो सफल रहा।
  • पिनाका एमके-1 राकेट प्रणाली की मारक क्षमता लगभग 45 किलोमीटर है, वहीं पिनाका -2 राकेट सिस्टम की मारक क्षमता 60 किलोमीटर है।
  • डीआरडीओ ने राकेट सिस्टम को गुणात्मक रूप से बेहतर बनाया है।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: क्या फ्लोर टेस्ट में बच पाएगी MVA सरकार! यहां समझे पूरा गणितMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूMaharashtra Political Crisis: नवनीत राणा ने की महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग, बोलीं- उद्धव ठाकरे की गुंडागर्दी खत्म होनी चाहिएBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ नया अविश्वास प्रस्ताव पेशMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारीAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.