सुदर्शन का ऐसा आघात, दुश्मन देख नहीं पाया प्रभात

साल का सबसे बड़ा स्ट्राइक इंटीग्रेटेड अभ्यास: थल-वायु सेना के तालमेल से दुश्मन साफ

 


आनंदमणि त्रिपाठी . दीपक व्यासपोकरण रेंज
20 सेंकेंड में 160 रॉकेट। 14 सेकेंड में 3 गोले। अपनी सीमा में ही बैठकर 40 किलोमीटर तक दुश्मन साफ कर देना। भारत—पाकिस्तान की पश्चिमी सरहद के करीब आर्टिलरी स्ट्राइक का यह वह नमूना है जिसने जम्मू—कश्मीर के तंगधार सेक्टर में पाकिस्तानी सेना और आतंकी अड्डों को महज चंद मिनटों में ही तबाह कर दिया था। भारतीय सेना का 19 और 20 अक्टूबर को आर्टिलरी स्ट्राइक से दुश्मन के अडडों को ध्वस्त करने का कारनामा भले ही कश्मीर के नीलम वैली में नुमाया हुआ है, लेकिन इसकी सरजमीं राजस्थान के तपते धोरों में तैयार होती है।

भारत—पाकिस्तान सरहद के निकट पोकरण फायरिंग रेंज में सुदर्शन चक्र स्ट्राइक कोर का 14 अक्टूबर से एक ऐसा ही अभ्यास जारी है। सोमवार को पोकरण रेंज में चल रहे सेना और वायुसेना के सिंधु सुदर्शन अभ्यास में चंद सेकेंड में दुश्मन पर तबाड़तोड़ वार किए और दुश्मन साफ हो गया। ये 9 दिसंबर तक चलने वाला यह इस साल का सबसे बड़ा स्ट्राइक इंटीग्रेटेड अभ्यास है। इसमें भारतीय सेना की स्ट्राइक कोर, मैकेनाइज्ड इंफेंट्री, आर्टिलरी गन, आर्मर्ड रेजीमेंट, आर्मी एयर डिफेंस, स्पेशल फोर्स, अटैक हेलीकॉप्टर और भारतीय वायुसेना शामिल है। यह दिन रात का चलने वाला नॉन स्टॉप एक्शन अभ्यास में भारतीय सेना के 40 हजार जवान और भारतीय वायुसेना के मिग—21 व जागुवार फाइटर जेट शामिल हैं। यही वजह है कि सुदर्शन चक्र कोर के इस अभ्यास को देखने के लिए रक्षामंत्री स्वयं आ रहे हैं।
गॉड आफ बैटल फील्ड: बोफोर्स तोप

गॉड आफ बैटल फील्ड कहे जाने वाले तोपों की ताकत का अंदाजा लोगों को या तो 1999 में करगिल युद्ध के दौरान हुआ था या फिर ठीक दस साल बाद 2019 में 19 और 20 अक्टूबर को हुआ। 1999 में बोफोर्स जहां करगिल युद्ध का टर्निंग प्वाइंट साबित हुई। वहीं 2019 में 19 और 20 अक्टूबर को जब पाकिस्तानी हिमाकत का जवाब देते हुए तंगधार में भारतीय सेना की 155 एमएम बोफोर्स का मुंह खोला तो पाकिस्तान के आतंकी लांच पैड पूरी तरह से तबाह हो गए। बोफोर्स ने अलग—अलग एम्युनेशन के साथ सोमवार को भी अपनी ताकत ओर दूर तक मार करने क्षमता का जबरदस्त प्रदर्शन किया।

manoj sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned