सुहागिनों ने की वट वृक्ष की परिक्रमा, रखा वट सावित्री का व्रत

पति की दीर्घायु की कामना की, लॉकडाउन पर भारी आस्था

By: Rajkumar Sharma

Updated: 23 May 2020, 11:31 AM IST

जयपुर. राजधानी में शुक्रवार को वट-सावित्री का पूजन कर महिलाओं ने पति की दीर्घायु और सुख समृद्धि की कामना की। इस दौरान महिलाओं ने बरगद के पेड़ की विधि-विधान से पूजा कर व्रत भी रखा। वहीं, ज्यादातर मंदिर बंद होने के चलते कॉलोनी में स्थित वट के पौधे का पूजन किया।
ज्योतिषाचार्य पं.पुरुषोत्तम गौड़ ने बताया कि वट सावित्री के व्रत में बरगद के पेड़ का पूजन करने की मान्यता है। वट वृक्ष में भगवान ब्रह्मा, विष्णु और महेश का वास होता है। वहीं, ज्येष्ठ मास की अमावस्या को सावित्री ने यमराज को हराकर पति सत्यवान के प्राण बचाए थे, इसलिए सुहागिनें सुहाग की लंबी उम्र के लिए वट सावित्री का व्रत रखती है।

वहीं अमावस्या को पितृजनों के निमित्त श्राद्ध निकाला गया। हवन में आहुतियां र्अिपत कर ब्राह्मण को भोजन करवाया। गोविंददेवजी मंदिर में सजी झांकी:गोविंददेवजी मंदिर में जल उत्सव झांकी सजाई गई। ठाकुरजी ने राधा रानी संग फव्वारे का आनंद लिया। जल उत्सव झांकी के बाद ठाकुरजी को पांच तरह के फलों और हलवे-पूड़ी का भोग लगाया।

Rajkumar Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned