मजदूरों की कमी से आपूर्ति हो रही प्रभावित

लॉकडाउन में घर गए मजदूर, बाजारों में दिखने लगा असर
जयपुर. लॉकडाउन में मजदूरों के घरों की ओर जाने से उद्योग और कारखानें प्रभावित हो रहे हैं, वहीं बाजारों में भी इसका असर देखने को मिल रहा है। सरकारी से लेकर निजी क्षेत्रों में मजदूरों की कमी खल रही है। वहीं दूसरी ओर जो मजदूर काम कर रहे हैं, उन्होंने अपनी मजदूरी बढ़ा दी है। इससे व्यापारियों को भी परेशानी हो रही है।

By: Sudhir Bile Bhatnagar

Published: 11 Jun 2020, 05:52 PM IST


राजस्थान पत्रिका ने शहर में अलग—अलग जगह पड़ताल कर हालात जाने।
एलिवेटेड रोड में 80 श्रमिक: शहर में एलिवेटेड रोड की रफ्तार श्रमिकों की कमी के कारण धीमी है। प्रोजेक्ट में जहां पहले 300 श्रमिक काम कर रहे थे। अभी महज 80 ही काम कर रहे हैं।
माल नहीं आ रहा
बाजारों में सबसे ज्यादा परेशानी गोदामों से माल लाने में हो रही है। इस कारण दुकानों पर सामान नहीं आ रहा है। परकोटा के चांदपोल बाजार में दुकानें होलसेल परचून की हैं। इन दुकानों पर समय से गोदाम से माल नहीं आ रहा है। रेलवे प्रोजेक्ट पर लगा ब्रेक : रेलवे के बड़े प्रोजेक्ट भी श्रमिकों की कमी से अटक गए हैं। अब बिजली से चलने वाली ट्रेन के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है।
जुर्माना देना पड़ रहा
मजदूर नहीं मिलने से रेलवे के जरिए आ रहे गेहूं और नमक की रैक समय से खाली नहीं हो रही है। अब कई दिन लगने से व्यापारियों को प्रति रैक चार लाख रुपए तक रेलवे को जुर्माना देना पड़ रहा है।

Sudhir Bile Bhatnagar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned