फैसले के बाद आसाराम के समर्थकों में आक्रोश! कई जगह बाबा के समर्थक हुए गिरफ्तार

राजस्थान, गुजरात और हरियाणा में आसाराम के बड़ी संख्या में भक्त हैं...

By: dinesh

Published: 25 Apr 2018, 12:09 PM IST

जोधपुर। नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में कथावाचक आसाराम व उसके सेवादारों शिल्पी और शरतचंद्र के खिलाफ न्यायाधीश मधुसूदन शर्मा ने बड़ा फैसला सुनाते हुए दोषी करार दे दिया है। वहीं प्रकाश और शिवा बरी करने का फैसला दिया गया। न्यायालय द्वारा आसाराम को दुष्कर्म मामले में दोषी करार देने के बाद उनके समर्थकों में भारी रोष व्याप्त है। आसाराम के समर्थकों ने बाबा की रिहाई के लिए कई इलाकों में पूजा-पाठ किया। कई जगहों पर बापू के समर्थक रो पड़े हैं। सुत्रों की माने तो दोषी करार देने के बाद आसाराम खुद भी रोने लगा था।


कई जगह आसाराम के समर्थक हुए गिरफ्तार
फैसला आने से पहले ही आसाराम के कई समर्थकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। बताया जा रहा है की आज सुबह आसाराम के समर्थकों ने देश के कई इलाकों में पूजा-पाठ किया। वहीं दूसरी तरफ कानून व्यवस्था को बरकऱार रखने के लिए सरकार ने सुरक्षा बल को तैनात करने को कहा हैं। क्योंकि राजस्थान, गुजरात और हरियाणा में आसाराम के बड़ी संख्या में भक्त हैं। गृह मंत्रालय ने इन राज्यों में कड़ी सुरक्षा करने के निर्देश दिए हैं।

दिल्ली, अहमदाबाद समेत आसाराम के कई आश्रमों के बाहर सुरक्षा का पुख्ता इंतज़ाम हैं। आसाराम के समर्थक आश्रमों में मौजूद हैं, लेकिन वे मीडियाकर्मियों की नजऱों से बच रहे हैं। करीब 1000 से ज्यादा सुरक्षा के लिए पुलिस लगाए गया हैं।

फूट-फूट कर रोये आसाराम!
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार फैसला सुनते ही आसाराम की आँखें नम हो गईं। कुछ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आसारम की आँखों से आंसूं तक निकल आये।


जांच आयोग की रिपोर्ट से भी सिद्ध हुए आरोप
अदालत से दोषी करार दिए गए आसाराम के खिलाफ कोई एक आरोप नहीं हैं। उसके खिलाफ बहुत से गंभीर आरोप हैं। देश भर में लगे ये आरोप पुलिस जांच और न्यायिक जांच आयोग की रिपोर्ट से भी सिद्ध हुए हैं। आसाराम की इंदौर में गिरफ्तारी के बाद पुलिस के लिए गुजरात सरकार की ओर से तैयार की गई जस्टिस त्रिवेदी जांच आयोग की रिपोर्ट आपराधिक रिकॉर्ड तैयार करने में मददगार बनी है। यह रिपोर्ट चालान पेश करते समय जोधपुर की अदालत में भी पेश की गई थी।


सूरत जेल में बंद है नारायण साई
एक ओर जहां आसाराम जोधपुर जेल में बंद हैं। वहीं उसके धर्म के नाम पर रचे गए गंदे कामों में उसका बेटे की मिलीभगत भी किसी से छिपी नहीं है। आसाराम का बेटा नारायण साईं भी आश्रम की एक युवती से दुष्कर्म के आरोप में सूरत की लाजपोर जेल में बंद है। नारायण साई के खिलाफ आश्रम की एक युवती ने 6 अक्टूबर 2013 को सूरत में दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया था। इसी मामले को दबाने के लिए नारायण साई द्वारा एक थानाधिकारी को 13 करोड़ की रिश्वत देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

उसके पास से 5 करोड़ नकद और करोड़ों की प्रोपर्टी के दस्तावेज मिले। उसे रिश्वत के मामले में जमानत मिल गई, लेकिन अभी दुष्कर्म के मामले में सूरत की लाजपोर जेल में बंद है। इतना ही नहीं आरोप है कि आसाराम दुष्कर्म करने बाद युवतियों का गर्भपात करवाता था। इसमें उसके गुजरात स्थित आश्रम की संचालिका ध्रुवबेन सहयोगी थी। वहीं नारायण साईं की हरकतों का खुलासा होने पर उसकी पत्नी भी उसके खराब चरित्र को लेकर खुलासा कर चुकी है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned