Corona Effect: मुंह पर मास्क और सैनेटाइज के बाद प्रभु दर्शनों की आस हुई पूरी

राज्य सरकार के निर्देश के बाद आज से खुले धार्मिक स्थल

साढ़े पांच महीने बाद चुनिंदा जगहों ही पर लौटी रौनक

सामाजिक दूरी की पालना का रखा गया विशेष ध्यान

By: SAVITA VYAS

Updated: 07 Sep 2020, 07:11 PM IST


जयपुर। कोरोना संक्रमण काल के बीच लगभग साढ़े पांच महीने बाद शहर सहित प्रदेशभर में राज्य सरकार ने भले ही आज से धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत दे दी हो। लेकिन बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच पहली बार राजधानी जयपुर सहित प्रदेशभर के चुनिंदा धार्मिक स्थल ही खुले।
आज से जो धार्मिक स्थल खुले हैं, उनमें सामाजिक दूरी की पालना, मास्क, सैनेटाइजेशन और थर्मल स्क्रीनिंग के बाद भक्तों को प्रवेश मिला। साथ ही स्थलों पर कम समय तक रुकने दिया। साथ ही सभी जगहों पर खास एल्कोहल मुक्त आयुर्वेदिक सैनेटाइजर को काम में लिया गया। एक बार में सीमित लोगों को ही प्रवेश दिया गया। इस दौरान बुजुर्गों को प्रवेश नहीं मिला। मंदिरों में फूल व प्रसाद आदि चढ़ाने पर भी पाबंदी रही।


बड़े मंदिर प्रबंधनों ने फिलहाल इस माह मंदिर खोलने को लेकर एहतिहातन असमर्थता जाहिर की है। शहर की सबसे बड़ी जौहरी बाजार सिथत जामा मस्जिद, संसारचंद्र रोड स्थित दरगाह मीर कुर्बान अली और चारदरवाजा स्थित मौलाना जियाउद्दीन साहब की दरगाह, राजापार्क, हीदा की मोरी सहित अक्षयपात्र मंदिर, खोले के हनुमान जी, देवस्थान विभाग के मंदिर, आदर्शनगर स्थित राम मंदिर, परकोटा गणेश और कैथोलिक चर्च खुल गए। खोले के हनुमान जी मंदिर खुलने का समय सुबह पांच से दोपहर 12, शाम चार से रात 10 बजे तक है। जगतपुरा स्थित कृष्ण बलराम मंदिर में सामाजिक दूरी की पालना के लिए सर्किल कोरिडोर व बेरिकेड्र्स की व्यवस्था की है। हाथ धोने के लिए सेंसर नल और सेंसर वाली घंटियां लगाई हैं। सुबह 10 से 1 और शाम 4.30 से 7.30 बजे तक मंदिर आम दर्शनार्थियों के लिए खोला गया। धार्मिक स्थलों के गेट और दीवारों पर बार-बार हाथ धोने, सैनेटाइजर का इस्तेमाल करने सहित अन्य तरीकों से आमजन को जागरूक करने की पहल की गई।


यह धार्मिक स्थल फिलहाल रहेंगे बंद

शहर के आराध्य गोविंद देव जी मंदिर, घाट के बालाजी, गोपीनाथ जी मंदिर, एमआई रोड स्थित अमरापुर दरबार, धौलाई स्थित इस्कॉन मंदिर, स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर, न्यूसांगानेर रोड स्थित चिंताहरण काले हनुमान जी मंदिर के महंत मनोहरदास ने भक्तों से आनलाइन दर्शन की अपील की। ताड़केश्वर महादेव, झाडख़ंड महादेव मंदिर, चांदपोल स्थित रामचंद्र जी मंदिर, शिला माता मंदिर,चांदी की टकसाल स्थित काले हनुमान जी मंदिर 30 सितंबर तक बंद रहेंगे। पं.योगेश शर्मा ने बताया कि भक्तों से ई-दर्शन की अपील की है। गलता तीर्थ फि लहाल पूरे सितंबर माह आम दर्शनार्थियों के लिए बंद रहेगा। अतिशय क्षेत्र महावीर जी और बाड़ा पदमपुरा जैन मंदिर 30 सितंबर तक बंद रहेंगे। इसके अलावा शहर के ज्यादातर छोटे 220 से ज्यादा जैन मंदिर बंद रहेंगे। राजस्थान जैन सभा के महामंत्री विनोद जैन ने बताया कि कई कॉलोनियों में छोटे जैन मंदिर पूरे दिशा-निर्देशों की पालना के साथ मंदिर खुल सकते हैं।

अभी नहीं लिया गया निर्णय
18 सितंबर तक मोतीडूंगरी गणेश जी मंदिर, 17 सितंबर तक नहर के गणेश जी मंदिर व गढ़ गणेश मंदिर, 20 सितंबर तक गोनेर स्थित लक्ष्मी जगदीश मंदिर बंद रहेगा। आगामी दिनों में कोरोना के मद्देनजर मंदिर खोलने या फिर से बंद करने पर निर्णय लिया जाएगा।

Corona virus
SAVITA VYAS Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned