पानी माफिया के आगे इसलिए बेबस है प्रशासन, ये है बड़ी वजह

Prahlad Choudhary

Updated: 14 Jun 2019, 08:40:09 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

प्रदेश में पानी के लिए लोग काफी परेशान है. एक पानी की किल्लत उपर से पानी टैंकर सप्लायर्स की बढ़ती मनमनी के चलते पानी की कीमतों का लगातार बढ़ना..लेकिन शायद जनता की इन सब परेशानियों से सरकार अनजान है. तभी तो जिला प्रशासन ने दरें तय करने के एक दिन बाद ही टेंकर मालिक और नेताओं के आगे झुकते हुए पानी टेंकर की तय दरों को फिलहाल लागू करने से अपने कदम पीछे खींच लिए हैं....पानी के लिए आपको टैंकर संचालकों की ओर से तय दरों पर ही निर्भर रहना होगा..सीधे शब्दों में हम यू समझे कि आमजनता को मुंहमांगे दामों पर ही पानी मिलेगा...ऐसा सवाल उठना लाजमी है कि आखिर पानी की कम की हुई दरें वापस लेने के मायने क्या?
वही इस मामले को लेकर टैंकर चालक यूनियन और जिला कलक्टर ने भी अपने बयान दिए
तय दरों में संभव नहीं था संचालन.जो दर तय की है उसमें टैंकर संचालन संभव ही नहीं था. इसलिए हड़ताल करनी पड़ी. दिन में कलक्टर ने फ़ोन पर बात की तो हमें धमकाया. शाम को जिला प्रशासन साथ हुई वार्ता में एडीएम ने कहा कि ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किए गए हैं. वाजिब दर लेकर टैंकर सप्लाई किए जा सकते हैं. इसीलिए हमने हड़ताल खत्म कर दी है
-बख्शीराम चौधरी, टैंकर चालक यूनियन

रियायती दरों पर ही पानी सप्लाई
हमारी टैंकर संचालकों के साथ वार्ता हुई, वे शुक्रवार से पानी सप्लाई करेंगे। वे रियायती दरों में पानी सप्लाई करेंगे। दर वे अपने हिसाब से ही तय करेंगे। हमने जलदाय विभाग की बीएसआर दर बताई थी, जिससे टैंकर चालक और जनता को पता रहे। अब किसी तरह की दिक्कत नहीं है।
जगरूप सिंह यादव, कलेक्टर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned