राजस्थानी लोक गीतों पर जुगलबंदी कर दर्शकों का मन मोहा

तीन साज से की जुगलबंदी

By: Rakhi Hajela

Updated: 03 Apr 2021, 08:37 PM IST

तीन साज से की जुगलबंदी


जयपुर, 3 अप्रेल
नेट.थियेट पर फोक.फ्यूजन कार्यक्रम में युवा फोक कलाकर ममता सपेरा ने फोक.फ्यूजन में राजस्थान के प्रमुख साज भपंग, मोरचंग और खडताल के साथ राजस्थानी लोक गीतों पर जुगलबंदी कर दर्शकों का मन मोह लिया।
नेट.थियेट के राजेन्द्र शर्मा राजू ने बताया कि भपंग, मोरचंग और खडताल आमतौर पुरुष कलाकार ही बजाते नजर आते हैं, लेकिन ममता सपेरा एक ऐसी महिला कलाकार के रूप में उभर कर सामने आई हैं जिन्होंने इन तीनों साजों को बजाकर अपनी कला का प्रदर्शन किया। ममता सपेरा सुप्रसिद्ध कलाबेलिया नर्तकी राजकी सपेरा की पुत्री एवं शिष्या हैं। फोकफ्यूजन के इस कार्यक्रम में गायक और हारमोनियम पर लोकेश सपेरा तथा ढोलक पर लाल राणा ने अपनी संगत से राजस्थान के लोकगीतों और जगलबंदी को परवान चढ़ाया। कार्यक्रम की शुरुआत गणेश वंदना से कर केसरिया बालम और बोले तो मीठो लागे आदी गानों के साथ राजस्थान के इन दुर्लभ साजों की शानदान जुगलबंदी की बानगी पेश की। मंच संचालन आशीष जैन ने किया।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned