कार खराब हुई, पुलिस ने कनात लगा करवाया प्रसव

जोधपुर . लॉक डाउन में गर्भवती महिला को अस्पताल ले जाने के दौरान सोमवार शाम आखलिया चौराहे पर कार खराब होने पर पुलिस ने महिला सिपाहियों की मदद से कार में ही प्रसव करवाया।

By: Sudhir Bile Bhatnagar

Updated: 05 May 2020, 03:55 PM IST


नागाणा निवासी गर्भवती नैनू कंवर को परिजन कल्याणपुर के अस्पताल लाए, जहां से उसे जोधपुर रैफर कर दिया गया। परिजन कार में जोधपुर आ रहे थे। देर शाम आखलिया चौराहा पर कार बंद हो गई। कार में प्रसव पीड़ा शुरू होने से महिला दर्द से कराह रही थी। डीसीपी (पश्चिम) प्रीति चन्द्रा ने नाकों पर मौजूद महिला सिपाहियों को मदद के लिए बुलाया। कार के चारों तरफ कनात खड़ी कर दी गई। अस्पताल में फोन से सूचित कर थानाधिकारी सोमकरण अस्पताल गए और एम्बुलेंस व चिकित्साकर्मियों लेकर चंद मिनटों में मौके पर पहुंचे। तब तक महिला ने बच्ची को जन्म
दे दिया ।

फिर नहीं पहुंची एम्बुलेंस, रोगी को ठेले पर लेकर दौड़े, मौत
कोटा . कफ्र्यूग्रस्त क्षेत्र रामपुरा में एक बार फिर एम्बुलेंस नहीं मिलने से परिजन अपने मरीज की जान बचाने के लिए फिर ठेले पर लेकर दौड़े, लेकिन उसे बचा नहीं सके। रामपुरा फतेहगढ़ी निवासी दामोदर मीणा ने बताया, उसके भाई क्षेत्रपाल मीणा (45) रविवार रात 8 बजे घर पर खाना खाने के बाद अचेत हो गए।
पड़ोसी ने 108 एम्बुलेंस व 100 नम्बर पर डायल किया, लेकिन किसी ने फोन उठाया। तबीयत ज्यादा बिगडऩे लगी तो पास ही ठेला खड़ा था। हमने पड़ोसी की मदद से अचेत क्षेत्रपाल को ठेले पर लिटाया और उसे लेकर रामपुरा जिला अस्पताल के लिए दौड़े। वहां चिकित्सकों ने उसे एमबीएस अस्पताल ले जाने को कहा। जिला अस्पताल में भी मरीज के लिए एम्बुलेंस की व्यवस्था नहीं हो सकी। बाद में एक परिचित की कार मंगवाई, जिससे क्षेत्रपाल को एमबीएस अस्पताल पहुंचाया। वहां चिकित्सक ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया।
जिम्मेदारों ने नहीं लिया सबक
रामपुरा फतेहगढ़ी निवासी सतीश अग्रवाल की 29 अप्रेल को मौत हुई थी। कफ्र्यूग्रस्त क्षेत्र होने के कारण उसके लिए भी कोई एम्बुलेंस नहीं आई थी। आखिरकार उसका बेटा ठेले पर लेकर उसे दौड़ा था।

Sudhir Bile Bhatnagar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned