फिक्सेशन में त्रुटि का खामियाजा, भुगत रहे प्रदेश के 54 हजार प्रबोधक और शिक्षक

फिक्सेशन में त्रुटि का खामियाजा
भुगत रहे प्रदेश के 54 हजार प्रबोधक और शिक्षक
मुख्यमंत्री और वित्त विभाग को भेजा पत्र

By: Rakhi Hajela

Published: 09 Jan 2021, 07:20 PM IST


गलती किसी ओर ने की और सजा भुगते कोई ओर। ऐसा ही एक मामला शिक्षा विभाग में देखने में आया है। दरअसल छठे वेतनमान के तहत किए गए फिक्सेशन के समय 2007-2008 में नियुक्त 54000 के करीब तृतीय श्रेणी शिक्षकों और प्रबोधकों के फिक्सेशन में विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण इन शिक्षकों को प्रतिमाह 3000 से 4000 रुपए का नुकसान हो रहा है।
जानकारी के मुताबिक इन शिक्षकों और प्रबोधकों की नियुक्ति वर्ष 2007-2008 में हुई। जब 6वें वेतन आयोग के तहत इनके फिक्सेशन करवाए गए तो लेखाधिकारियों ने मूल वेतन 12900 देने के स्थान पर 11170 पर फिक्स कर दिया।
जब लेखाकर्मियों ने इनकी ग्रेड पे बदली उस समय इनकी प्रथम पे ग्रेड 5200-20200 तथा ग्रेड पे 2800 रुपए थी। इसके बाद सरकार की ओर से वेतन विसंगतियों को दूर करने के लिए एक समिति गठित की और उसकी सिफारिशों को लागू कर दिया। इसमें इन शिक्षकों और प्रबोधकों का मूल वेतन और ग्रेड पे वेतन श्रृंखला 9300-34800 और ग्रेड पे 3600 किया गया। इस समय लेखाकर्मियों द्वारा सन 2008 में नियुक्त शिक्षकों और प्रबोधकों की ग्रेड पे 2800 के स्थान पर 3600 रुपए तो कर दी लेकिन वेतन श्रृंखला 9300-34800 के तहत न्यूनतम मूल वेतन 9300 के स्थान पर पुरानी व ेतन श्रृंखला 5200-20200 के तहत 8750 की गणना करके दिया जिससे इनका मूल वेतन 11170 ही बना रहा जबकि वह 12900 रुपए होना चाहिए था। इस प्रकार केवल फिक्सेशन करते समय की गई गलती के कारण इन्हें तीनसे चार हजार रुपए का नुकसान हर माह हो रहा है।
राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के संगठन महामंत्री प्रहलाद शर्मा ने कहा कि इन शिक्षकों और प्रबोधकों के वेतन का नुकसान फिक्सेशन में लेखाकर्मियों की गलती के कारण हो रहा है। यह वेतन विसंगति का मामला नहीं है। विभागीय अधिकारियों से अपनी लापरवाही को उजागर होने से बचाने के लिए अब तक संशोधित फिक्सेशन की कार्यवाही नहीं कर रहे है। हमने मुख्यमंत्री से मांग की कि इनके फिक्सेशन में हुई गलती को दूर किया जाए और संशोधित आदेश जारी हो अन्यथा संगठन को आंदोलन करने पर मजबूर होना होगा।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned