शासन सचिवालय में आयोजित होने वाली बैठकें अब होगी वीसी के माध्यम से

कोरोना से बचाव के लिए मुख्य सचिव की नई पहल
शासन सचिवालय में आयोजित होने वाली बैठकें
अब होगी वीसी के माध्यम से

By: Rakhi Hajela

Published: 07 Sep 2020, 07:24 PM IST

मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने कोरोना संक्रमण के मध्यनजर नई पहल करते हुए शासन सचिवालय में आयोजित होने वाली बैठकों के स्वरूप में बदलाव किया है। अब सचिवालय में आयोजित की जाने वाली अधिकतर बैठकें कॉन्फ्रेंस हॉल एवं कमेटी रूम के स्थान पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से की जायेगी। मुख्य सचिव ने सोमवार को शीर्ष अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस कर इसकी शुरुआत की। मुख्य सचिव ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की शासन सचिव गायत्री राठौड़ की मौजूदगी में सोमवार को अपने कक्ष से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से विभिन्न विभागों के उच्च अधिकारियों के साथ सिलिकोसिस प्रकरणों की समीक्षा की। इस वीसी बैठक से खान एवं पेट्रोलियम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुबोध अग्रवाल, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव निरंजन आर्य, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोड़ा, श्रम विभाग के शासन सचिव नीरज कुमार पवन ने अपने -अपने कक्ष से जुडकर भाग लिया। मुख्य सचिव ने सिलिकोसिस रोगियों के प्रमाणीकरण और भुगतान से संबंधित प्रकरणों की विस्तार से समीक्षा की।

मुख्य सचिव द्वारा सभी अधिकारियों से बैठक के इस नए स्वरूप के बारे में राय जानी। इस पर सभी ने एक स्वर में इस नई पहल का समर्थन करते हुए कहा कि वीसी के माध्यम से सभी बिन्दुओं पर बहुत सहज ढंग से संवाद हुआ है और इससे कोरोना संक्रमण से बचने के साथ ही समय की भी बचत होगी। पहली वीसी के सार्थक परिणाम मिलने के बाद मुख्य सचिव ने सभी विभागों के अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रमुख शासन सचिव और शासन सचिव को भी उनके द्वारा की जाने वाली बैठके यथासंभव वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ही करने के निर्देश दिए।

अधिकारियों का कीमती समय भी बचेगा
शासन सचिवालय के कॉन्फ्रेंस हॉल एवं समिति कक्ष में आयोजित की जाने वाली बैठकों के लिए अधिकारियों को तय समय से पहले आना होता है और बैठक समाप्त होने के बाद अपने कक्ष में जाकर कामकाज शुरू करने में भी समय लगता है। इस नई पहल के बाद वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान अधिकारी नियत समय पर अपने कक्ष से ही बैठक से जुड़ जायेंगे और वीसी समाप्त होने के तुरंत बाद अपने कार्यालय का काम शुरू कर सकेंगे। इससे अधिकारियों का कीमती समय बचेगा तथा इस समय में अन्य कार्य निस्तारित किया जा सकेेगा।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned