बारिश ने बिगाड़ा सब्जियों का हाल,सस्ती हुई सब्जियां लेकिन फिर भी बिक्री कम

बारिश के कारण आवक हो रही ज्यादा,टमाटर और प्याज के कम हुए भाव

By: HIMANSHU SHARMA

Updated: 07 Mar 2020, 10:22 AM IST



जयपुर
बैमौसम हो रही बरसात से केवल सरसों,गेहूं और चना की फसल को ही नुकसान नहीं पहुंचा है। बल्कि इस बारिश ने खेत में उगी सब्जियों के हाल भी खराब कर दिए है। यहीं कारण है कि इन दिनों शहर की मंडियों में सब्जियों की जबरदस्त आवक हो रही है। लेकिन आवक के अनुसार खरीदार नहीं है। मुहाना और अन्य सब्जी मंडियों के व्यापारियों का कहना है कि गत दिनों के मुकाबलों में सब्जी के भाव 40 से 50 प्रतिशत तक कम हुए है। लेकिन फिर भी इनका कोई खरीददार नहीं है। वहीं इन दिनों मंडी में हरी सब्जियों की बंपर पैदावार होने के कारण सब्जियों की आवक अधिक हो रही है। जिस कारण से भावों में भारी गिरावट आई हुई है। वहीं मौसम से टमाटर,धनियां,पतागोभी,मिर्च जैसी फसल को नुकसान की आशंका के चलते किसान इन दिनों अधिक मात्रा में यह सब्जियां लेकर मंडियों में पहुंच रहे है। लेकिन बम्पर आवक के कारण किसानों को भी घाटा हो रहा है। वहीं व्यापारी किसानों से सस्ती सब्जी तो खरीद रहा है लेकिन उसकी भी आधी सब्जियां ही बिक रही है। मुहाना मंडी के व्यापारियों का कहना है कि होली बाद मौसम में सुधार आया तो फिर से सब्जियों के भाव बढ़ने लगेंगे। क्योकि गर्मी बढ़ने के साथ ही दाम बढ़ेंगे। फिलहाल भाव कम है तो डिमांड भी कम है। ऐसे में ना तो किसानों को कोई फायदा हो रहा है और ना ही व्यापारियों को। वहीं ग्राहक भी इसका फायदा नहीं उठा पा रहा हैं।
टमाटर और प्याज भी हुआ सस्ता
गत साल में सौ रुपए किलो तक पहुंचने वाला प्याज भी सस्ता हो गया है। सीकर,अलवर और अन्य क्षेत्र से प्याज की फसल आना शुरू होने के कारण प्याज के भाव कम हो गए है। अब प्याज 18 से 25 रुपए किलो ग्राहकों को मिल रहा है। वहीं टमाटर भी अब सस्ता होने लगा है। गत साल में 60 से 80 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर अब 10 से 15 रुपए किलो में ग्राहकों को मिल रहा है।
यह है इन दिनों भाव
इन दिनों ग्राहकों को सब्जियां सस्ती मिल रही है। फूल गोभी 20 से 25, पत्ता गाेभी 10 से 15, धनियां 8 से 15, करेला 50 से 60, भिंडी 50 से 60,खीरा ककड़ी 40 से 50, आलू 15 से 20,मिर्च 30 से 40 रुपए प्रतिकिलों में ग्राहकों को मिल रहे है। व्यापारी इमरान का कहना है कि मंडियों में सब्जियों के भाव औंधे मुंह गिर गए हैं। मंडी में सुबह आने वाली सब्जियां शाम तक ऐसे ही पैकेट में रखी रहती है लेकिन उनका कोई खरीददार नहीं है। व्यापारी किसानों से बहुत कम भाव में सब्जियां खरीद रहे है जबकि वह ग्राहक को करीब दो से तीन गुणा अधिक भावों में मिल रही है। वहीं सब्जी बेचने चौमूं से आए किसान सीताराम कुमावत ने बताया कि इन दिनों तो मेहनत,मजदूरी और किराया भी नहीं निकल रहा है। मौसम से टमाटर,मिर्च जैसी फसल को नुकसान हो रहा है। इसलिए ज्यादा मात्रा में लाकर बेच रहे है। ताकि खेत में फसल खराब नहीं हो।

HIMANSHU SHARMA
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned