लो फ्लोर या यमदूत! बेकाबू दौड़ी बस, दो दुकानों में जा घुसी

स्पीड कंट्रोल के दावे फुस्स

By: neha soni

Updated: 08 Feb 2019, 12:09 PM IST

जयपुर. मानसरोवर में जिस वरुण पथ पर व्यस्त समय में एक मिनट में लगभग 100 वाहन सर्कल से गुजरते हैं, वहां गुरुवार अपराह्न 4 बजे एक लो फ्लोर बस बेकाबू होकर दौड़ी। बस 2 दुकानों में जा घुसी। दुकानदार भारती शर्मा बाल-बाल बचीं। दो दुकानों के टिन शेड उखड़ गए, एक स्कूटर क्षतिग्रस्त हो गया। कपड़ों की दुकान के सामने रखी डमी टूट गई।
गजक की दुकान में भी नुकसान हुआ। प्रत्यक्षदर्शी अमरीश गोयल ने बताया कि एक चालक पहली लाइन में बीच सड़क पर कार खड़ी कर गया। ऐसे में तेज रफ्तार में आई लो फ्लोर बेकाबू हो गई। कार से बचने के लिए चालक ने बस बायीं ओर मोड़ी लेकिन बस लहराती हुई २ दुकानों में जा घुसी। बाहर डमी पर कपड़े लगा रहीं दुकानदार भारती शर्मा सहम गईं। ठेले वाले की चीख सुनकर और बस को अपनी तरफ आती देख वह दुकान के अंदर भागीं। हड़बड़ी में वह दुकान के गेट पर ही गिर पड़ीं। गजक विक्रेता मुरारीलाल के गजक के डिब्बे टूट गए।

लगा...आज तो गई जान
भारती ने बताया, ठेले वाले की चीख सुनकर देखा तो बस मेरी तरफ ही आ रही थी। मैं भीतर भागी लेकिन गिर पड़ी। भगवान की कृपा रही कि टिन शेड व स्कूटर से टकराकर बस रुक गई। मैं बाल-बाल बच गई। एक पल के लिए तो लगा जैसे बस कुचल ही डालेगी।

भीड़ देखकर घबराया, भाग गया चालक
घटना के बाद लोगों ने चालक को बस से उतारा और पहचान पत्र लिया लेकिन भीड़ देखकर वह घबरा गया। लोगों से हाथ छुड़ाकर वह भाग छूटा। मौके पर पहुंची दुर्घटना थाना पुलिस ने बस जब्त की। साथ ही कार और स्कूटर को भी वरुण पथ थाने ले गई।

बस में सवार
लोग भी सहमे
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि लो फ्लोर बस में सवार लोग भी सहम गए थे। सवारियों का कहना था कि चालक बहुत तेज गति से बस चला रहा था। वरुण पथ पर हुए हादसे से पहले गुर्जर की थड़ी पर भी सहम गए थे। वहां बस से हादसा होते-होते बचा था।

neha soni
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned