तीसरा अम्पायर देखेगा फ्रंट फुट नो बॉल

इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच 30 जुलाई से तीन मैचों की वनडे सीरीज के साथ आईसीसी वल्र्ड कप सुपर लीग की शुरुआत हो जायेगी और इसमें धीमे ओवर रेट पर टीमों के अंक काटे जाएंगे तथा फ्रंट फुट नो बॉल की निगरानी खास तौर पर तीसरा अम्पायर करेगा।

By: Lalit Prasad Sharma

Published: 27 Jul 2020, 09:42 PM IST

दुबई. इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच 30 जुलाई से तीन मैचों की वनडे सीरीज के साथ आईसीसी वल्र्ड कप सुपर लीग की शुरुआत हो जायेगी और इसमें धीमे ओवर रेट पर टीमों के अंक काटे जाएंगे तथा फ्रंट फुट नो बॉल की निगरानी खास तौर पर तीसरा अम्पायर करेगा। फ्रंट फुट नो बॉल को लेकर यह नियम वनडे और टी-20 दोनों में लागू होगा। पिछले कुछ वर्षों में ऐसे कई मामले देखने में आये हैं जब मैदानी अम्पायर फ्रंट फुट नो बॉल नहीं देख पाता है और बल्लेबाज को ऐसी बॉल पर आउट होने की सूरत में नुकसान उठाना पड़ता है। ऐसी बॉल पर फ्री हिट मिलने का बल्लेबाज को फायदा भी होता है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने इस तकनीक का इस्तेमाल भारत और वेस्ट इंडीज के बीच पिछले साल वनडे सीरीज के दौरान किया था। इसके अच्छे परिणाम देखने में आये थे जिसके बाद आईसीसी ने इस वर्ष के शुरू में ऑस्ट्रेलिया में हुए महिला टी-20 विश्व कप में इसका इस्तेमाल किया था। ऊंचाई के लिए नो बॉल का फैसला मैदानी अम्पायर के जिम्मे ही रहेगा। सुपर लीग में धीमे ओवर रेट पर टीमों के अंक काटे जाएंगे। सुपर लीग में जीत के लिए 10 अंक और टाई, परिणाम नहीं या रद्द मैच के लिए पांच अंक दिए जाएंगे। आईसीसी ने कहा कि सुपर लीग में हर धीमे ओवर के लिए एक अंक कटेगा। लीग में हर टीम को प्रति पारी दो डीआरएस मिलेंगे। गत जून में वनडे और टी-20 में एक डीआरएस से बढ़ाकर दो डीआरएस करने की घोषणा की गयी थी। कोरोना के कारण नियमों में कुछ परिवर्तन किये गए हैं जिसकी हर तीन महीने में समीक्षा की जायेगी। सुपर लीग समाप्त होने की अंतिम तारीख अभी तय नहीं की गयी है। यह दो वर्ष की लीग होगी। 2023 के वनडे विश्व कप को फरवरी-मार्च से बढ़ाकर अक्टूबर-नवम्बर कर दिया गया है जिससे लीग को समाप्त होने के लिए और समय मिल जाएगा।

Lalit Prasad Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned