script... this is a 5 wonderful investment scheme for old age | ...ये है 5 गजब की निवेश स्कीम, बुढ़ापे में होगी लाखों की आमदनी | Patrika News

...ये है 5 गजब की निवेश स्कीम, बुढ़ापे में होगी लाखों की आमदनी

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पर ब्याज दरें बढ़ सकती हैं। देश के सीनियर सिटीजन की मांग है कि खुदरा महंगाई को पाटने के लिए सरकार 100-200 बेसिस पॉइंट तक ब्याज दरों में बढ़ोतरी करे। अगर सरकार इस मांग को मान लेती है तो आने वाले दिनों में सीनियर सिटीजन के लिए चलाई जाने वाली स्कीम पर कुछ अतिरिक्त ब्याज जुड़ सकता है।

जयपुर

Published: June 05, 2022 05:10:29 pm

बढ़ती महंगाई का असर सभी वर्गों पर दिख रहा है। सीनियर सिटीजन पर इसका सबसे ज्यादा असर नजर आ रहा है। इनके पास आय के सीमित स्रोत होते हैं, महंगाई का मुकाबला करने के लिए इस वर्ग के पास नियमित आय के विकल्प ही होते हैं। ऑल इंडिया सीनियर सिटीजन कॉन्फेडरेशन ने खुदरा महंगाई का हवाला देते हुए सरकार से मांग की है कि उनकी ब्याज दरों को बढ़ाया जाए।
अगर सरकार इस मांग को मान लेती है तो सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पर ब्याज दरें बढ़ सकती हैं। देश के सीनियर सिटीजन की मांग है कि खुदरा महंगाई को पाटने के लिए सरकार 100-200 बेसिस पॉइंट तक ब्याज दरों में बढ़ोतरी करे। अगर सरकार इस मांग को मान लेती है तो आने वाले दिनों में सीनियर सिटीजन के लिए चलाई जाने वाली स्कीम पर कुछ अतिरिक्त ब्याज जुड़ सकता है।

Fit in old age
Fit in old age

1. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम
स्कीम 60 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए शुरू की गई थी। इस स्कीम में अकाउंट खोलने की तारीख से 5 साल के बाद जमा राशि परिपक्व होती है। इसके बाद यह अवधि एक बार 3 साल के लिए और बढाई जा सकती है। इस स्कीम पर ब्याज दर 7.4% निर्धारित की गई है। इस स्कीम के लिए खाता सार्वजनिक/निजी क्षेत्र के बैंकों और भारत के डाकघरों में खोला जा सकता है।

2. पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम
इस स्कीम में एमडी की तुलना में अधिक रिटर्न मिलता है। इससे वरिष्ठ नागरिकों को निश्चित मासिक आय प्राप्त होती है। यह कम से कम 1,500 रुपए हर माह जमा कर शुरू की जा सकती है। इस पर अभी 6.6% वार्षिक ब्याज देय है। मैच्योरिटी पीरियड 5 साल का है। ज्यादा से ज्यादा 9 लाख रुपए निवेश किया जा सकता है।

3. प्रधानमंत्री वय वंदना योजना
यह पेंशन स्कीम है। इस योजना में भारत सरकार सब्सिडी दे रही है। मासिक पेंशन का विकल्प चुनने पर वरिष्ठ नागिरकों को स्कीम में 10 साल तक एक तय दर से गारंटीशुदा पेंशन मिलती है। यह स्कीम डेथ बेनिफिट की भी पेशकश करती है। इस स्कीम में अधिकतम 7.75 फीसदी ब्याज की सीमा तय तय की गई है।

4. फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड
वरिष्ठ नागरिक सात साल के लिए निवेश कर सकते हैं। इस स्कीम में प्रत्येक 6 माह में ब्याज दरें बदलती हैं, इसमें नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर दिए जाने वाले ब्याज दर के अलावा 35 बेसिस प्वाइंट जोड़कर मिलता है। इसमें अभी 7.15% ब्याज दिया जा रहा है। निवेशक को मिलने वाले ब्याज पर टैक्स चुकाना पड़ता है।

5.बैंक फिकस्ड डिपाजिट
बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट कर वरिष्ठ नागरिक अपने हाथ में आने वाली रकम की फ्रीक्वेंसी पहले से ही तय कर सकते हैं। वह मासिक निकासी चाहते हैं या तिमाही, छमाही निकासी चाहते हैं या सालाना। यह सब पहले से तय करना पड़ता है। इस समय अधिकतर बैंक 5 से 10 साल की अवधि के लिए सीनियर सिटीजन को फिक्स्ड डिपॉजिट पर 6 फीसदी ब्याज देते हैं।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

निवेश सलाहकार हमेशा सीनियर सिटीजंस को सुरक्षित निवेश की सलाह देते हैं। हालांकि देश में सीनियर सिटीजन के लिए सबसे लोकप्रिय सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम है, लेकिन इनके अलावा कुछ और भी विकल्प सीनियर सिटीजन्स को महंगाई से मुकाबला करने में मददगार हो सकते हैं।

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

PM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्तFlag Code Of India: 'हर घर तिरंगा' अभियान शुरू, 15 अगस्त से पहले जानिए तिरंगा फहराने के नियम, अपमान पर होगी जेलMaharashtra: शिंदे कैबिनेट के विस्तार के बाद अब विभागों के बंटवारे पर फंसा पेंच, इन मंत्रालयों पर नहीं बन पा रही बातनीरज चोपड़ा को हराने वाले वर्ल्ड चैम्पियन एथलीट से पार्टी में हुई जमकर मारपीट, अधमरा कर बोट से नीचे फेंकाCoronavirus News Live Updates in India: पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को फिर हुआ कोरोना'प्लीज फिल्म का बायकॉट मत कीजिए', खाली सिनेमाघरों और कैंसिल शोज को देखते हुए बदले Kareena Kapoor के सुर, अब लोगों से कर रहीं रिक्वेस्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.