scriptThree alerts in Rajasthan: 20 days of water came in Bisalpur dam | राजस्थान में तीन अलर्ट:बीसलपुर बांध में आया 20 दिन का पानी | Patrika News

राजस्थान में तीन अलर्ट:बीसलपुर बांध में आया 20 दिन का पानी

प्रदेश में मानसून की झमाझम के बीच बांधों में पानी की आवक शुरू हो गई है। जयपुर, अजमेर और टोंक जिले की लगभग एक करोड़ की आबादी को पेयजल उपलब्ध कराने वाले बीसलपुर बांध ने शनिवार को इस मानसून सीजन की बड़ी खुशखबर दी। बीसलपुर बांध के कैचमैंट एरिया में सुबह 6 बजे से बारिश का दौर शुरू हुआ जो दोपहर बाद तक जारी रहा और बांध में पानी की आवक शुरू हो गई।

जयपुर

Published: July 24, 2022 08:03:25 pm

प्रदेश में मानसून की झमाझम के बीच बांधों में पानी की आवक शुरू हो गई है। जयपुर, अजमेर और टोंक जिले की लगभग एक करोड़ की आबादी को पेयजल उपलब्ध कराने वाले बीसलपुर बांध ने शनिवार को इस मानसून सीजन की बड़ी खुशखबर दी। बीसलपुर बांध के कैचमैंट एरिया में सुबह 6 बजे से बारिश का दौर शुरू हुआ जो दोपहर बाद तक जारी रहा और बांध में पानी की आवक शुरू हो गई।

Bisalpur Dam Live Update
Bisalpur Dam Live Update

बीसलपुर बांध में सुबह 6 से रात 8 बजे तक 14 घंटे के भीतर 40 सेमी पानी की आवक हुई। पानी की इस अतिरिक्त आवक से बांध का जल स्तर 309.22 से बढ़ कर 309.62 आरएल मीटर हो गया। बीसलपुर बांध में जितने पानी की आवक हुई उससे तीनों जिलों को 20 दिन तक सप्लाई हो सकेगी।
वहीं दूसरी तरफ कभी एशियन खेल का गवाह बन चुके रामगढ़ बांध अब भी खाली ही पड़ा हुआ है। इसके पीछे महज एक कारण है। वह है कि पूरे कैचमेंट में लोगों ने अवैध कब्जा कर रखा है। दूदू क्षेत्र में भी दिन भर बारिश का दौर जारी रहा और शाम 6 बजे तक क्षेत्र के छापरवाड़ा बांध में 3 फीट से ज्यादा पानी की आवक हुई।

बूंद बूंद से भरा बूंदी

बूंदी जिले में हो रही बारिश के कारण यहां के सभी बांध और झरने छलक पड़े हैं। मौसम में रवानगी देखकर इन झरनों का मजा लेने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां पहुंच रहे हैं। तेज बारिश के कारण बूंदी की तालेड़ा नदी में उफन गया है। भीमलत में झरना बहने लगा है। बरधा बांध ओवरफ्लो होकर बह रहा है।

पांच जिलों में अरेंज अलर्ट
जयपुर मौसम केन्द्र ने प्रदेश के मौसम को लेकर बताया है उदयपुर, सवाई माधोपुर और बारां जबकि 25 जुलाई को उदयपुर, झालावाड़ और डूंगरपुर जिले में कहीं-कहीं भारी से अति भारी बारिश होने की संभावना जताते हुए इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। 25, 26 और 27 जुलाई को अजमेर, अलवर, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, राजसमंद, सवाई माधोपुर, टोंक, पाली, जालोर और बाड़मेर जिलों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना जताई है।

बांधों के गेट खोले गए
झालावाड़, बूंदी में अच्छी बारिश के बाद बांध, तालाब और नदियां ओवरफ्लो होकर बहने लगी। भीमसागर के तीन गेट खोलकर 8248 क्यूसेक, कालीसिंध के चार गेट खोलकर 45,221 क्यूसेक, गुढा डैम के दो गेट से 5507 और कोटा बैराज के एक गेट से 2488 हजार क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ा जा रहा है।

24 घंटे में 172 मिलीमीटर बारिश
जल संसाधन विभाग के मुताबक पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा बरसात टोंक के बीसलपुर बांध पर 172 मिलीमीटर दर्ज हुई। टोंक के अलावा अजमेर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, बूंदी, झालावाड़, जोधपुर, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, राजसमंद, उदयपुर और नागौर में भी अच्छी बारिश हुई। इन जिलों के कई एरिया में 60 मिलीमीटर से ज्यादा बरसात हुई।

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

बांग्लादेश में श्रीलंका जैसे हालात, 50% बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, हाथों में लालटेन ले सड़कों पर उतरे लोगअंतरिक्ष में भारत की नई उड़ान, इसरो ने लॉन्च किया पहला SSLV-D1West Bengal SSC Scam: पहली रात जेल में जमीन पर सोने को मजबूर हुए पार्थ चटर्जी, अगले दिन मिल गया बेड, कहा- 'यहां रहना होगा मुश्किल'Maharashtra: महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार में देरी को लेकर अजित पवार ने सरकार पर साधा निशाना, जानें क्या कहाBihar News: महंगाई-बेरोजगारी को लेकर पटना में RJD का रोड शो, तेज प्रताप ने चलाई बस, बगल में बैठे तेजस्वी यादव15 अगस्त से पहले दिल्ली में ISIS मॉड्यूल का खुलासा, NIA ने एक आरोपी को किया गिरफ्तारMaharashtra Politics: मुंबई को आर्थिक राजधानी किसनें बनाया.. ED की कस्टडी से संजय राउत ने लिखा सामना में लेख; पढ़ें डिटेल्सधनकड़ इफेक्ट के राजनीतिक नफा-नुकसान के आंकलन में जुटी कांग्रेस, सियासी तोड़ पर भी मंथन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.