तीन करोड़ की जांच मशीनें खाक, दो महीने ओटी बंद

dharmendra Singh

Publish: Jun, 14 2018 01:51:22 PM (IST) | Updated: Jun, 14 2018 01:53:19 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
तीन करोड़ की जांच मशीनें खाक, दो महीने ओटी बंद

ऑपरेशन थिएटर में रखी तीन करोड़ रुपए से ज्यादा की मशीनें और अन्य साजो-सामान जल कर राख हो गया है।

एसएमएस में आग का मामला, अब नुकसान का आंकलन किया जा रहा
जयपुर

सवाई मानसिंह अस्पताल के बांगड परिसर में बुधवार को दूसरी मंजिल पर स्थित सीटी सर्जरी ऑपरेशन थिएटर में लगी आग का धुआं छंटने के बाद अब नुकसान का आंकलन किया जा रहा है। अस्पताल प्रशासन के सूत्रों के अनुसार ऑपरेशन थिएटर में रखी तीन करोड़ रुपए से ज्यादा की मशीनें और अन्य साजो-सामान जल कर राख हो गया है। अस्पताल के इंजीनियरों का कहना है कि आग से पूरे ब्लॉक की दीवारों को नुकसान हुआ है। ऐसे में इसे तत्काल शुरू करने का रिस्क नहीं ले सकते। इस ऑपरेशन थिएटर को फिर से शुरू करने में लगभग 2 महीने का समय लग सकता है, तब तक ओपन हार्ट सर्जरी के लिए इमरजेंसी ऑपरेशन थिएटर में दो टेबल सीटी सर्जरी विभाग को आवंटित की गई है।

रात तक दुरुस्त होती रहीं ऑक्सीजन लाइनें
उधर सीटी सर्जरी विभाग के आईसीयू में मरीजों को देर रात तक भी शिफ्ट नहीं किया जा सका, क्योंकि वहां बिजली की लाइनें पूरी तरह से जलने के कारण बिजली नहीं थी। सेमी आईसीयू में दिन भर ऑक्सीजन की सप्लाई सिलेंडरों से ही की जाती रही। वहीं इंजीनियर रात को भी ऑक्सीजन लाइनों को दुरुस्त करने में लगे रहे। ऑक्सीजन लाइनों को जोडऩे के लिए दिन भर सेमी आईसीयू के बाहर तोडफ़ोड़ चलती रही, जिससे वहां मरीज परेशान होते रहे। वहीं गलियारों में रखे गए आईसीयू के मरीज दिन भर गर्मी में परेशान होते रहे।

कल सीटी सर्जरी विभाग के ऑपरेशन थिएटर के स्टोर में लगी थी आग

गौरललब है कि कल एसएमएस अस्पताल के बांगड़ परिसर में दूसरी मंजिल पर स्थित सीटी सर्जरी विभाग के ऑपरेशन थिएटर के स्टोर में भीषण आग लग गई थी। स्टोर में लगी भीषण आग के धुएं से थिएटर के पास स्थित सीटी सर्जरी आईसीयू से लेकर पूरे बांगड़ परिसर के सभी वार्डों में धुआं भर गया था। स्टोर में आग लगने की जानकारी मिलते ही पूरे बांगड़ परिसर में भर्ती मरीजों में हड़कंप मच गया था। पूरे घटनाक्रम के दौरान अस्पताल प्रशासन की घोर लापरवाही सामने आई है। सेमी आईसीयू की ऑक्सीजन लाइन चालू नहीं थी तो दूसरी ओर मरीजों को दूसरी जगह ले जाने के लिए स्ट्रेचर तक नहीं मिले और मरीजों को किसी तरह परिजन गोद में उठा कर भागे। तीन घंटे तक बांगड़ परिसर में अफरा-तफरी रही।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned