मस्ती की पाठशाला का सिग्नल ऑन

Vikas Jain

Publish: May, 18 2018 01:07:56 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
मस्ती की पाठशाला का सिग्नल ऑन

गर्मी की छुट्टियां शुरू, बच्चे कर रहे हॉबी क्लासेज की ओर रूख

टोंक रोड. समर हॉलिडेज शुरू हो चुके हैं। बच्चों की मस्ती की पारी शुरू हो गई हैं। देर से उठना, फ्रेण्ड्स के साथ खेलना और मस्ती की पाठशाला का सिग्नल ऑन हो चुका है। इन हॉलीडेज में बच्चे हॉबी क्लासेज ज्वॉइन करना खूब पसंद कर रहे हैं। बच्चों को क्लासेज में ड्राइंग, पेन्टिंग, आर्ट एण्ड क्राफ्ट, डांस, कैलिक्राफी, योगा, म्यूजिक, योगा, एरोबिक्स आदि की ट्रेनिंग दी जा रही है। कुछ बच्चे स्पोट्र्स की तरफ भी रूख करते हैं वहां स्वीमिंग, टेनिस, बॉस्केटबॉल, क्रिकेट, बैडमिंटन, स्केट्स आदि की क्लासेज लेते हैं। जबकि कुछ म्यूजिक की ओर रूख कर इंस्टू्रमेंटल या वोकल म्यूजिक की ट्रेनिंग लेते हैं।

बच्चे सीख रहे हैं वोकल म्यूजिक
छोटी उम्र में बच्चों को वोकल म्यूजिक की प्रेक्टिस करवाई जाएं तो उनकी आवाज का पता चला जाता है और वे सुरों को ढंग से पकडऩा सीख जाते हैं। एक संस्थान की ऑनर नवीना सिंघानिया बताती हैं कि समर में बच्चों की रूटीन क्लासेज लगवाई हैं, लेकिन इस बार वोकल म्यूजिक नया जोड़ा है। इसमें तीन साल से ८ साल तक के बच्चों ने बहुत अच्छा रूझान दिखाया हैं।


आर्ट एण्ड क्राफ्ट में साइंस पर फोकस
समर एक्टिविटीज में सभी कुछ नया सीखने पर फोकस करते हैं। स्टूडेंट यतीश ने बताया कि आर्ट एण्ड क्राफ्ट में हमने कई नई चीजें बनाई, जैसे गिफ्ट रैपिंग, ज्वैलरी मेकिंग, पेपरमैशी से बनी चीजें, क्विलिंग आदि। बीच-बीच में हमें टीचर, इन सभी चीजों में हवा और पानी का उपयोग कैसे होता है, इस विषय में भी बताती हैं। डेली रूटीन में नल, बिजली, खेलकूद में साइंस का यूज आदि के विषय में बताकर हमारा इंट्रेस्ट अधिक बढ़ जाता है।

तीन घंटे पढ़ाई के साथ फेवरेट हॉबी
अभिषेक, हंसिका, माही, अनुष्का, और अनन्या गुप्ता ने चार दिन पहले हॉबी क्लासेज ज्वॉईन किया है। उन्होंने डांस, कैलिग्राफी, पेन्टिंग और आर्ट एण्ड क्राफ्ट कोर्सेज चुने हैं। वे बताते हैं कि हम सुबह ९ से १२ बजे तक यहीं रहते हैं। वे आगे बताते हैं कि एक डांस एक्टिविटी में हिप-हॉप, फ्यूजन, बॉलीवुड सॉन्ग आदि की प्रेक्टिस करते हैं, जिससे स्कूल की किसी भी एक्टिविटी में आसानी से पार्टिसिपेट कर सकें।

७ साल से अधिक उम्र के बच्चे योग ? में
बच्चों में योग के प्रति भी क्रेज देखा गया है। योगा टीचर आनंद कृष्ण कोठारी बताते हैं कि योग सुबह के समय श्रेष्ठ माना जाता है। इस समय बच्चे खूब योगा कर रहे हैं। उन्हें सूर्य नमस्कार, प्रणायाम व अन्य आसान करवाएं जाते हैं।

बॉयज एण्ड गर्ल दोनों को पेन्टिंग
वनविहार निवासी सुमन जैन बताती हैं कि लड़का हो या लड़की, दोनों ही पेन्टिंग सीखना चाहते हैं। करीब २० तरह की पेन्टिंग बच्चों को सीखाई जा सकती है। पेंसिल कलर से लेकर, वॉटर कलर, एक्रेलिक, काजल, स्पे्र, मोली पेस्टिल कलर आदि १० साल से कम उम्र के बच्चे आसानी से कर लेते हैं। बच्चे इस समर विकेशन में इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स, हैण्डराइङ्क्षटंग इम्पू्रवमेंट और कैलिग्राफी का भी अभ्यास करते हैं।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned