सचिन पायलट के जरिए कई समीकरण साधने की तैयारी में भाजपा

जम्मू-कश्मीर से लेकर गुर्जर वोट बैंक को साधने की तैयारी, पायलट के बीजेपी में जाने से राहुल गांधी की युवा ब्रिगेड को भी लगेगा धक्का

By: firoz shaifi

Published: 20 Jul 2020, 10:44 AM IST

जयपुर। राजस्थान में आए सियासी संकट के बीच 19 विधायकों को लेकर दिल्ली शिफ्ट हुए राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके कैंप के लोग भले ही दावे करें कि सचिन पायलट भाजपा में शामिल नहीं होंगे लेकिन भाजपा का एक शीर्ष धड़ा इस प्रयास में है कि पायलट भाजपा में शामिल हो जाएं, दरअसल शनिवार को दिल्ली में हुई भाजपा के टॉप लीडरशिप की बैठक में सचिन पायलट को लेकर चर्चा हुई थी।

जानकारों की माने भाजपा के शीर्ष नेताओं का मंशा है कि पायलट को भाजपा में शामिल कराकर सीएम के तौर पर प्रोजेक्ट किया जाए, इसकी एक वजह ये भी है कि भाजपा का ये शीर्ष नेताओं का धड़ा पायलट के जरिए कई समीकरण साधना चाहता है।


जम्मू-कश्मीर पर पकड़
सूत्रो की माने को बीजेपी सचिन पायलट के जरिए जम्मू-कश्मीर में अपनी पैठ बनाना चाहती है, पायलट जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला के दामाद हैं और आगामी समय में वहां विधानसभा के चुनाव होने हैं ऐसे में पायलट के जरिए भाजपा फारुख अब्दुल्ला की नेशनल कॉन्फ्रेंस से गठबंधन कर चुनाव लड़ सकती है।


गुर्जर वोट बैंक पर पकड़
दरअसल सचिन पायलट को भाजपा में लाने के प्रयास के पीछे गुर्जर वोट बैंक भी एक बड़ा कारण है, राजस्थान के साथ ही दिल्ली एनसीआर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गुर्जर बाहुल्य जिलों में अपनी पैठ बनाना चाहती है। इसके मध्य प्रदेश में कई दो दर्जन सीट%

Amit Shah pm modi
Show More
firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned