scriptTricycle, wheelchair and crutches distributed among the handicapped | दिव्यांगों में बांटे ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर और बैसाखी | Patrika News

दिव्यांगों में बांटे ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर और बैसाखी

अंतरराष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के अवसर पर नारायण सेवा संस्थान ने एआरटी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के सहयोग से जयपुर में दिव्यांग सहायता शिविर का आयोजन किया।

जयपुर

Published: December 03, 2021 10:13:12 pm

दिव्यांगों में बांटे ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर और बैसाखी
जयपुर।

अंतरराष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के अवसर पर नारायण सेवा संस्थान ने एआरटी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के सहयोग से जयपुर में दिव्यांग सहायता शिविर का आयोजन किया। यह शिविर संस्थान की सीएसआर गतिविधियों के तहत आयोजित किया गया। इस शिविर के माध्यम से 45 दिव्यांगों को ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर और बैसाखी वितरित करने की पहल की गई। नारायण सेवा संस्थान ने लगभग 2,74,603 व्हीलचेयर 2,64,422 ट्राइसाइकिल 2,97,789 बैसाखी, 3,61,997 और 1,72,000 कंबल जरूरतमंद और वंचित व्यक्तियों के बीच वितरित किए हैं। दिव्यांग जनों को एक स्थायी आजीविका देने के लिए एनजीओ राजस्थान, दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र, पंजाब और गुजरात में शिविर आयोजित करने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है। कोविड-१९ के नए वेरिएंट और फिर से महामारी फैलने की चिंताओं के बीच संस्थान ने च्नो मास्क, नो एंट्रीज् जैसे अभियानों के माध्यम से भी जागरुकता फैलाने का प्रयास किया है। इसके लिए डिजिटल तौर पर और फील्ड में भी अभियान चलाए जा रहे हैं।
दिव्यांगों में बांटे ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर और बैसाखी
दिव्यांगों में बांटे ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर और बैसाखी
संस्थान के इस अभियान की जानकारी देते हुए अध्यक्ष श्री प्रशांत अग्रवाल ने कहा, ‘‘ग्रामीण और शहरी भारत में लगभग 2.68 करोड़ दिव्यांगजन सरकारी और निजी संगठनों में अच्छे रोजगार के अवसरों तक पहुंच की कमी जैसे सामान्य मुद्दों का सामना कर रहे हैं। अच्छे स्कूलों, कॉलेजों, अस्पतालों, पार्किंग स्थलों और कभी-कभी शौचालय तक पहुंच की कमी के साथ दिव्यांगों को अनेक जबरदस्त चुनौतियों का सामना भी करना पड़ता है। दिव्यांगों को आसानी से पहुंच प्रदान करने और उन्हें मुख्यधारा के समाज का हिस्सा बनने में सहायता करने के लिए, नारायण सेवा संस्थान कृत्रिम अंग, तिपहिया, व्हीलचेयर और बैसाखी वितरित करके इस उद्देश्य को हासिल करने की दिशा में काम कर रहा है। हालांकि सरकार अपनी ओर से विभिन्न योजनाओं की पेशकश करती रही है, लेकिन दिव्यांग जनों की सहायता के लिए और अधिक प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। एनएसएस द्वारा विभिन्न शहरों में आयोजित शिविरों में दिव्यांगजनों को अच्छी गुणवत्ता वाले अंग निशुल्क लगाए जा रहे हैं और इस तरह हम उनकी मदद करने की कोशिश कर रहे हैं।’’

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.