scriptTruck crushed two scooty-riding friends, one killed, the other serious | Red Light पर रुकी थीं दो सहेलियां, सिर रौंदता हुआ निकल गया ट्रेलर, ICG कॉलेज से B-Com कर रहीं थी | Patrika News

Red Light पर रुकी थीं दो सहेलियां, सिर रौंदता हुआ निकल गया ट्रेलर, ICG कॉलेज से B-Com कर रहीं थी

ट्रोले से स्कूटी का हैंडिल टच हुआ और दोनो सहेलियां नीचे आ गिरी। स्कूटी चला रही सहेली तो बच गई लेकिन पीछे बैठी श्रेया के सिर से ट्रोला गुजर गया। मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया।

जयपुर

Published: March 28, 2022 09:53:06 am

जयपुर
रात के समय राजधानी में यातायात के नियमों का पालन करना जानलेवा साबित हो सकता है। रात के समय न तो रेड लाइट होती है और अगर होती भी है तो उसकी कोई पालना नहीं करता। रेड लाइट की पालना करने वाले को मौत अपने आगोश में ले सकती है। 18 साल की श्रेया जैन के साथ कुछ ऐसा ही हुआ। रविवार रात करीब ग्यारह बजे मानसरोवर मंे वह अपनी सहेली के साथ स्कूटर से अपने रुम पर लौट रही थी। रेड लाइट पर स्कूटी धीमी की ही थी कि अचानक पास से तेजी से दस चक्का ट्रोला गुजरा। ट्रोले से स्कूटी का हैंडिल टच हुआ और दोनो सहेलियां नीचे आ गिरी। स्कूटी चला रही सहेली तो बच गई लेकिन पीछे बैठी श्रेया के सिर से ट्रोला गुजर गया। मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया।
shrya_photo_2022-03-28_09-50-31.jpg
दोनो ने हैलमेट भी पहना था, नियमों का पालन भी कर रहीं थी, फिर भी....
मौके पर सबसे पहले पहुंची मानसरोवर पुलिस ने बताया कि श्रेया जैन और उसकी सहेली रिषिता को टक्कर मारने वाले ट्रोला चालक को स्थानीय लोगों ने दबोच लिया और बाद में पुलिस के हवाले किया। पुलिस ने बताया कि दोनो युवतियों ने हैलमेट भी पहना था। रेड लाइट पर रुकने के दौरान अचानक ट्रोला चालक वहां तेजी से आया। उसने ट्रोला निकालने की जल्दबाजी में ट्रोले के टायर से स्कूटी को टक्कर मार दी।
स्कूटी चला रही रिषिता दूसरी ओर गिरी जबकी पीछे बैठी श्रेया ट्रोले की ओर जा गिरी। ट्रोले के पिछले टायरों से कुचलने जाने के कारण मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि हैलमेट होने के बाद भी सिर सड़क से चिपक गया। जैसे तैसे शव को सड़क से उठाया गया और बाद में एसएमएस के मुर्दाघर में रखवाया गया। श्रेया के मामा विकास ने बताया कि भांजी ने हैलमेट भी पहना था।
दोनो सहेलियां नियमों का पालन भी कर रहीं थी उसके बाद भी दर्दनाक मौत हो गई। श्रेया के पिता प्राइवेट जॉब में हैं। उन्हें जब इस बारे में जानकारी मिली तो वे रातों रात ही जयपुर आ पहुंचे। 18 साल की बेटी की मौत के बाद से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। उधर रिषिता के हाथ में चोटें आई हैं। उसकी हड्डी कई जगहों से टूट गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंद्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तयसुकन्या समृद्धि योजना में सरकार ने किए बड़े बदलाव, जानें क्या है नए नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.