बिना संसद की इजाजत के ईरान पर हमला नहीं कर पाएंगे ट्रंप

अमरीकी संसद ने एक प्रस्ताव पास कर ईरान के खिलाफ राष्ट्रपति ट्रंप की शक्तियों को सीमित कर दिया है। इसके बाद ट्रंप को ईरान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई करने से पहले संसद की अनुमति लेनी होगी। कई महीने से चले आ रहे तनाव के बीच ट्रंप को ईरान पर हमला करने से रोकने संबंधी प्रस्ताव को बुधवार को प्रतिनिधि सभा ने मंजूरी दे दी।

By: dhirya

Published: 13 Mar 2020, 12:56 AM IST

वाशिंगटन. अमरीकी संसद ने एक प्रस्ताव पास कर ईरान के खिलाफ राष्ट्रपति ट्रंप की शक्तियों को सीमित कर दिया है। इसके बाद ट्रंप को ईरान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई करने से पहले संसद की अनुमति लेनी होगी। कई महीने से चले आ रहे तनाव के बीच ट्रंप को ईरान पर हमला करने से रोकने संबंधी प्रस्ताव को बुधवार को प्रतिनिधि सभा ने मंजूरी दे दी।
पक्ष में 227 और विपक्ष में 186 वोट पड़े। सेनेट में इस बारे में एक प्रस्ताव पहले ही पारित हो चुका है। प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक पार्टी के दूसरे सर्वोच्च नेता स्टेनी हॉयर ने कहा कि दुनिया में कई ऐसे देश हैं, जहां एक व्यक्ति फैसले लेता है। उन्हें तानाशाह कहा जाता है। हमारे देश के निर्माता नहीं चाहते थे कि अमरीका को तानाशाह चलाएं।
सुलेमानी को मारने का दे दिया था आदेश
हालांकि प्रस्ताव को ट्रंप की ओर से वीटो किया जाना लगभग तय माना जा रहा है। इसे रद्द करने के लिए ज्यादातर विपक्षी डेमोक्रेट और मु_ी भर युद्ध-विरोधी रिपब्लिकन के पास वोटों की कमी है। इसी साल तीन जनवरी को ट्रंप ने इराक में ड्रोन हमले का आदेश दे दिया था, जिसमें बगदाद हवाईअड्डे पर ईरान के सबसे ताकतवर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी।

dhirya Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned