कुल का चिराग था मेरा दीपक, सबसे छोटा लेकिन सबसे अच्छा था, हादसे में बेटे को खोने के बाद बोले पिता

Pushpendra Singh Shekhawat | Updated: 14 Jun 2019, 08:19:16 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

खिरणी फाटक के पास 200 फीट एक्सप्रेस हाइवे पर हुआ हादसा

मुकेश शर्मा / जयपुर। मेरा बेटा मेरे कुल का दीपक था। पांच बच्चों में सबसे छोटा था, लेकिन सबसे अच्छा था। 7वीं कक्षा में पढ़ता था, तभी से उसे भजन मंडली के साथ काम करने का शौक लग गया था। वह कार्यक्रमों में राधा-कृष्ण की भूमिका करने लगा था। अब उसकी मंडली और आस-पास के बच्चे बेटे दीपक (22) से सीखने आया करते थे। कभी मुझे आर्थिक मदद की जरूरत हुई तो दीपक समझ जाता था और खुद ही रुपए दे मदद करता था। खाटूश्यामजी से लौटते समय हादसे का शिकार हुए दीपक के पिता चेलाराम रोते हुए यह कहने लगे।

 

jaipur

ऑटो चालक चेलाराम ने कहा कि दीपक पहली बार अपनी बाइक नहीं लेकर गया और अपने दोस्त की बाइक पर गया था। उन्होंने बताया कि बेटे को अंत्येष्टि के लिए ले गए हैं। उनक समाज में बेटा पिता की अंत्येष्टि में जाता है, लेकिन पिता, बेटे की अंत्येष्टि में नहीं जा सकता है। दीपक के साथ भजन मंडली में पायल की बहन मनीषा भी काम करती थी।

jaipur

देखने वाले 200 लोगों की भीड़ थी और सड़क पर लहूलुहान पड़ी थी बहन

हादसे में मृत पायल की बहन मनीषा ने बताया कि गुरुवार देर रात 12 बजे खाटूश्यामजी के लिए दो बाइक से छह लोग निकले थे। देर रात करीब साढ़े तीन बजे खाटूश्यामजी पहुंचे, लेकिन वहां पर बहुत भीड़ थी और बहुत लंबी दर्शनार्थियों की लाइन थी। चार पांच घंटे में नंबर आने पर लेट हो जाने की बजह से बिना दर्शन करें ही शुक्रवार तड़के चार बजे जयपुर के लिए वापस लौट गए थे। पायल, दीपक और सुमित एक बाइक पर आगे चल रहे थे। उनसे करीब चार पांच किलोमीटर मनीषा दूसरी बाइक पर थी। मनीषा ने कहा कि सुबह करीब साढ़े छह बजे खिरणी फाटक पुलिया के पास जाम लग रहा था। करीब 200 लोग सड़क पर पड़े घायलों को देख रहे थे। भीड़ देख मनीषा और उसके साथी उधर वहां पहुंचे। सड़क पर देखा तो पैरों तले जमीन खिसक गई। लहूलुहान पायल, सुमित और दीपक सड़क पर पड़े थे। मनीषा एम्बुलेंस बुलाने के लिए चिल्लाई, तब किसी ने फोन किया और पन्द्रह बीस मिनट बाद एम्बुलेंस वहां पहुंची। तब तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया। दीपक का सिर कुचल गया था और पायल का हाथ और पैर बुरी तरह से कुचल गए। जबकि सुमित का हाथ कुचल गया और सिर में भी चोट लगी।

jaipur

उधर, सुमित के परिजनों ने बताया कि सुमित ने इस बार 12वीं कक्षा पास की है और साथ में बाइक रिपेयरिंग का काम करता है। उधर, प्रत्यदर्शियों ने बताया कि दीपक, सुमित और पायल की बाइक को टक्कर मारने के बाद ट्रक चालक वाहन भगा ले गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned