सचिवालय कर्मचारियों से मारपीट का मामलाः दो पुलिकर्मी सस्पेंड, सात लाइन हाजिर

-पुलिस कर्मियों ने 24 दिसंबर की देर रात की थी सचिवालय कर्मियों से मारपीट, कल दिन भर सचिवालय में में कर्मचारी-अधिकारियों ने किया था प्रदर्शन, पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई के बाद समाप्त हुआ कर्मचारियों का विरोध प्रदर्शन

By: firoz shaifi

Published: 29 Dec 2020, 12:27 PM IST

जयपुर। सचिवालय में तैनात पुलिसकर्मियों की ओर से सचिवालय के एक अनुभाग अधिकारी और दो कम्प्यूटर ऑपरेटर के साथ मारपीट के मामले के तूल पकड़ने के बाद में हरकत में आई सरकार ने दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया था, साथ ही सात पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया।

पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई के बाद कर्मचारियों ने अपना आंदोलन वापस ले लिया। इससे पहले सोमवार को दिनभर पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर कर्मचारी नेताओं की अगुवाई में सचिवालय परिसर में धरने प्रदर्शन होते रहे। इस दौरान कर्मचारियों ने पुलिसकर्मियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी।

मौके की नजाकत को देखते हुए पुलिसके आलाधिकारी भी मौके पर पहुंचे, लेकिन कर्मचारियों ने उनकी एक नहीं सुनी और मारपीट के आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे। कई बार बैठकों का दौर भी चला लेकिन बातचीत बेनतीजा रही। जिसके बाद कर्मचारी संगठनों ने मुख्य सचिव निरंजन आर्य को ज्ञापन भी दिया। आनन-फानन में देर रात पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गई।

ये है मामला
दरअसल ये घटना 24 दिसंबर की देर रात की बताई जा रही है। रात 11 बजे अनुभागाधिकारी मनीष पारीक अपनी टीम के साथ सचिवालय में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे थे। इस दौरान सीएमओ के पास सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे थे, तभी वहां मौजूद पुलिसकर्मियों की ओर से उनके साथ अभद्रता की गई । कर्मचारियों की माने तो अनुभाग अधिकारी मनीष पारीक और दो कंप्यूटर ऑपरेटरों ने जब इसका विरोध किया तो उनके साथ मारपीट की गई है।

बाद में उन्हें पुलिस थाने उठाकर ले गए। आरोप लगाया गया कि पुलिस के आलाधिकारी ने मनीष पारीक और कर्मचारियों के साथ अभद्रता की। हालांकि 25 दिसंबर से 27 दिसंबर तक अवकाश होने के चलते जैसे ही सोमवार को कर्मचारी सचिवालय आए तो उन्होंने मारपीट के विरोध में मोर्चा खोल दिया।

इनका कहना है
मारपीट करने वाले 2 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड और सात को लाइन हाजिर किया गया। इस तरह की घटनाएं भविष्य में फिर नहीं होनी चाहिए, हमारी मांगों को माना गया।
मेघराज सिंह पंवार, अध्यक्ष सचिवालय अधिकारी संघ

सरकार ने हमारी मांगों पर कार्रवाई करते हुए दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की है, इसलिए अब आंदोलन समाप्त हो गया।
देवेंद्र सिंह, अध्यक्ष सचिवालय कर्मचारी संघ

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned